गांधीनगर सचिवालय: आखिरकार पकड़ा गया तेंदुआ, बेहोश कर साथ ले गए वन विभाग के अधिकारी

New Delhi: गुजरात के गांधीनगर सचिवालय में घुसा तेंदुआ आखिरकार पकड़ में आ ही गया। दरअसल, गांधीनगर सचिवालय में लगे सीसीटीवी फुटेज में रात 1 बजकर 53 मिनट पर अंदर जाता हुआ तेंदुआ कैद हुआ। सचिवालय में मुख्यमंत्री के अलावा सभी मंत्रियों का कार्यालय है, जिसके चलते सुरक्षा की दृष्टि से बेहद गंभीर माना जा रहा है। ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

बताया जा रहा हैं कि गुजरात के गांधीनगर सचिवालय में उस वक्त हड़कंप मच गया जब तेंदुआ घुसने की खबर लोगों के बीच फैल गई। जांच के लिए सीसीवीटी फुटेज को खंगाला गया। सीसीटीवी फुटेज में जो दिखा, उसे देख सबके होश उड़ गए। वीडियो के मुताबिक, तेंदुआ बड़े आराम से विभाग के अंदर दाखिल होता हुआ दिखाई दे रहा है। जानकारी के मुताबिक, देर रात गेट नंबर 7 से तेंदुआ घुसने की जानकारी कंट्रोल रूम को दी गयी। तेंदुआ की सूचना मिलने के बाद आनन-फानन में वन विभाग की टीमें और पुलिस मौके पर पहुंच गई।

सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि तेंदुआ रात 1 बजकर 53 मिनट पर सचिवालय में घुस गया। तेंदुए को पकड़ने के लिए पिंजरे लगाए गए। इस दौरान विधानसभा के बाहर कर्मचारियों की भीड़ लग गई और ऑपरेशन के खत्म होने तक उन्हें अंदर जाने की अनुमति तक नहीं दी गई थी। पुलिस ने विधानसभा की आवाजाही पूरी तरह से रोक दी थी। तेंदुए को पकड़ने के लिए 100 से ज्यादा लोगों की टीम इस अभियान में जुटी और दोपहर बाद घंटों की कड़ी मशक्कत के बाद पकड़ लिया गया।

वन विभाग के अधिकारियों ने ट्रांकुलाइजर (डार्ट) मारकर तेंदुए पर काबू पाया। जब तेंदुआ बेहोश हो गया तो वन विभाग के अधिकारी उसे अपना साथ ले गए। तेंदुए के पकड़े जाने से पहले मामले को लेकर एसपी मयूर चावला ने बताया कि सभी की सुरक्षा को प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि जब तक यह सुनिश्चित नहीं हो जाता कि तेंदुआ पकड़ लिया गया है या चला गया है, तब तक किसी को अंदर नहीं जाने दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *