वानखेड़े स्टेडियम, 2011 वर्ल्ड कप, 97 रन और एक गौतम गंभीर

New Delhi : सामने था श्रीलंकाई  गेंदबाज और पिच पर मुस्तैद था एक गंभीर खिलाड़ी। जिसने…

भारत को पहली बोलती फिल्म आलम आरा देने वाले आर्देशिर ईरानी

New Delhi : पर्दे पर फिल्में थीं, फिल्मों में किरदार और हर किरदार हंसता था, कूदता…

योडली किंग, जिनके घर के दरवाजे पर लिखा था ‘किशोर से सावधान’

New Delhi : क्या ही बताएं किशोर दा के बारे में इनके किस्से कभी खत्म ही…

फिल्मों की वजह से टूटा था रिश्ता, अपनी मेहनत से फिल्मी जगत के ‘दादामुनि’ कहलाए अशोक कुमार

New Delhi : थिएटर करना, फिल्में देखना और साहित्य पढ़ना एक अच्छा कलाकार बनने का शुरूआती…

आजादी से पहले भारत में महिलाओं को वोट का अधिकार दिलाने वालीं कामिनी रॉय पर गूगल ने बनाया डूडल

New Delhi: आजादी से पहले वह महिला जिसके बंगाल में सालों चलाए आं’दोलन के बाद आखिरकार…

चिट्ठी ना कोई संदेश जाने वो कौन सा देश जहां तुम चले गए : पुण्यतिथि जगजीत सिंह

New Delhi : वो चला गया जैसे जाती है हवा जंगले को छोड़कर और छोड़ जाती…

बाहुबली बनाने वाले एस एस राजमौली, इनकी हिट फिल्में लिखने वाले लेखक

New Delhi : राजमौली वो नाम जिसने भारत के इतिहास की सबसे कामयाब फिल्म बनाई। वो…

रेखा को देख के कह दिया करते थे भद्दा और बदसूरत, फिर कैसे बदली रेखा की किस्मत

   New Delhi : रेखा जिनका पूरा नाम भानुरेखा गणेशन है। ये एक तमिल एक्ट्रेस थीं।…

डाकिया डाक लाया, चिट्ठी आई है आई है से चिट्ठी ना कोई संदेश तक – विश्व डाक दिवस

New Delhi : वो भी क्या दिन थे जब चिट्ठियां लिखीं जाती थी। कभी नीली स्याही…

हवा सी रफ्तार थी फिर भी हार गए मिल्खा सिंह, 1960 रोम ओलंपिक की वो कभी ना भूलने वाली रेस

New Delhi : तू है आग मिल्खा तू भाग मिल्खा और जिंदा है तो प्याला पूरा…