दु’ष्कर्म मामलों का ट्रायल जल्द करने के लिए अमरिदंर सिंह ने मुख्य न्यायधीश को पत्र लिखा

New Delhi: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिदंर सिंह ने पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायलय के मुख्य न्यायधीश कृष्ण मुरारी से फास्ट ट्रैक अदालत बनाने का आग्रह किया है। कैप्टन ने दु’ष्कर्म के मामलों की त्वरित सुनवाई के लिए फास्ट ट्रैक ट्रायल तंत्र बनाने का आग्रह किया है जिससे पीड़ितों को जल्द न्याय मिल सके


मुख्यमंत्री सिंह ने कहा: “यह सुनिश्चित करने के लिए स्पीडी ट्रायल जरूरी हैं कि ऐसे मामलों में सभी दोषियों को सजा और पीड़ितों को न्याय जल्द से जल्द दिलाया जा सके। मुख्यमंत्री ने आपराधिक प्रक्रिया संहिता की धारा 173 (1-ए) के संशोधित प्रावधानों की ओर भी मुख्य न्यायाधीश का ध्यान आकर्षित किया, जिसमें धारा 376, 376-ए, 376 के तहत दर्ज मामलों की जांच के लिए एक समय सीमा निर्धारित की गई है।
उन्होंने लिखा, “राज्य पुलिस को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि ऐसे अपराधों से जुड़े मामलों की जांच निर्धारित सीमा के भीतर पूरी हो।”हालांकि, उन्होंने कहा, “यह देखा गया है कि इस तरह के मामलों की जांच समय पर पूरी हो जाने के बावजूद, न्यायालय के सक्षम विभिन्न परीक्षणों में समय अधिक लग जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा, “चूंकि पीड़ितों को न्याय मिलने में देरी होती है, इसलिए यह महसूस किया जाता है कि ऐसे मामलों की सुनवाई, जल्दी हो जिससे लोगों को बिना किसी देरी के न्याय मिल सके।”