बॉयकॉट चाइना का हीरो : हीरो साइकिल ने चीन के साथ 900 करोड़ की बिजनेस डील रद की, भारत में बनायेंगे

New Delhi : भारत-चीन विवाद और बॉयकॉट चाइना के बीच हीरो साइकिल कंपनी ने चीन को एक बड़ा झटका दिया है। हीरो साइकिल ने चीन को झटका देते हुये अपना 900 करोड़ रुपये का करार रद कर दिया है। बॉयकॉट चाइना अभियान में चीन खिलाफ हो रहे फैसलों की कड़ी में किसी निजी कंपनी द्वारा उठाया गया यह बहुत बड़ा कदम है। भारत ने हाल ही में चीन के 59 ऐप्स को बंद किया था, जिससे चीन को काफी व्यावसायिक नुकसान हुआ।

प्रधानमंत्री मोदी के इस डिजिटल स्ट्राइक के बाद चीन को मिल रहे झटकों में हीरो का यह झटका बेहद कारगर है। हीरो साइकिल कंपनी के एमडी पंकज मुंजाल ने चीन के साथ तय 900 करोड़ का बिजनेस डील को रद कर दिया है। हीरो साइकिल कंपनी को चीन से 900 करोड़ के साइकिल के पार्ट्स खरीदने थे परन्तु देश में चल रही चीन के बहिष्कार की मुहिम का समर्थन करते हुए इसको रद करने का फैसला लिया है। इसके साथ ही कंपनी ने ये स्पष्ट तौर पर कहा है कि आत्मनिर्भर अभियान के अंतर्गत अब साइकल के ये विभिन्न भाग भारत की लोकल मार्किट में ही बनेंगे।
पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये हीरो साइकिल के एमडी और डायरैक्टर पंकज मुंजाल ने बताया – चीन का बायकॉट करने के लिये हीरो साइकिल ने यह अहम फ़ैसला लेते हुए उनके साथ व्यापार बंद कर दिया है और विश्व के दूसरे देशों में कंपनी की तरफ से अपना भविष्य तलाशा जा रहा है, जिसमें जर्मनी अहम है और जर्मनी में अब हीरो साइकिल अपना पलांट लगायेगा जहाँ से पूरे यूरोप में हीरो के साइकिल स्पलाई किये जाएंगे।
हीरो साइकिल के एमडी पंकज मुंजाल ने कहा- बीते दिनों में साइकिल की डिमांड बढ़ी है और हीरो साइकिल की तरफ से अपनी उत्पादन झमता भी बढ़ाई गई है। हालाँकि इस दौरान छोटी कंपनियों का बहुत नुक्सान हुआ है परन्तु उनकी भरपाई के लिए भी यूरो साइकिल तैयार हैं और उनकी मदद के लिए आगे आई हैं।
उन्होंने कहा- चाइना के सामान का बॉयकॉट आसानी के साथ किया जा सकता है क्योंकि यदि भारत में कंप्यूटर बन सकते हैं तो साइकिल क्यों नहीं। सरकार उनके साथ है और भारत में हर तरह की साइकिल का निर्माण संभव है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

21 + = twenty five