बुकिंग शुरू हुई, टिकटें बिकीं : शाम 5.15 में दिल्ली से खुलेगी सुबह 5.30 में पहुंचा देगी पटना, डिटेल यहां है

New Delhi : राजधानी दिल्ली से 15 स्पेशल ट्रेनें चलाने के लिए सोमवार से IRCTC की वेबसाइट पर बुकिंग शुरू हुई। बुकिंग शुरू होने के महज 10 मिनट से भी कम समय में हावड़ा-नई दिल्ली और पटना एक्सप्रेस ट्रेन में थर्ड एसी की सारी टिकटें बुक हो गईं। इससे पहले शाम चार बजे आईआरसीटीसी की वेबसाइट खुली थी, लेकिन अचानक भारी ट्रैफिक हो गया, जिसके आईआरसीटीसी को बुकिंग रोकनी पड़ी। वेबसाइट की प्रॉब्लम की वजह से यात्रियों को टिकटें बुक करने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ट्रेनों की टाइमिंग भी जारी हो गई है। पटना के लिये शाम 5 बजकर 15 मिनट पर ट्रेन खुलेगी और सुबह 5 बजकर 30 मिनट पर पटना के राजेंद्रनगर टर्मिनल पर पहुंचा देगी।

इसी तरह पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल से शाम 7 बजकर 20 मिनट पर ट्रेन खुलेगी और सुबह 7 बजकर 40 मिनट पर नई दिल्ली पहुंच जायेगी। हावड़ा के लिये ट्रेन शाम में 4 बजकर 55 मिनट पर नई दिल्ली स्टेशन से खुलेगी और सुबह 9 बजकर 55 मिनट पर हावड़ा पहंच जायेगी। रांची के लिये दोपहर 3 बजकर 30 मिनट पर ट्रेन नई दिल्ली से खुलेगी और दूसरे दिन 10 बजे रांची पहुंच जायेगी।
रेलवे ने सोमवार 11 मई को नया आदेश जारी किया है। रेलवे के नए ऑर्डर के अनुसार, अब श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 1200 यात्रियों के बजाए, कुल 1700 श्रमिक यात्रा कर सकेंगे। वहीं, ट्रेन तीन स्टेशनों पर भी रुकेगी। इन ट्रेनों के सीमित स्टॉपेज हैं लेकिन यात्री इन स्टेशनों पर चढ़ और उतर सकेंगे। उदाहरण के लिए नई दिल्ली से पटना जाने वाली एसी स्पेशल ट्रेन कानपुर सेंट्रल, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन (मुगलसराय) और प्रयागराज जंक्शन पर रुकेगी। इन स्टेशनों पर यात्री उतर और चढ़ सकेंगे। इससे पहले लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए जो स्पेशल ट्रेनें चलाई गई थीं, उनमें बीच में चढ़ने या उतरने की व्यवस्था नहीं थी। इन स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनों का किराया राजधानी एक्सप्रेस के बराबर होगा। सिर्फ ऑनलाइन टिकट मिलेगी। प्लेटफॉर्म टिकट और टिकट काउंटर बंद ही रहेंगे। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि अभी 15 जोड़ी ट्रेनें चला रहे हैं। धीरे धीरे इस संख्या को बढ़ाया जायेगा। रेलवे ने सेनेटाइजेशन से लेकर थर्मल सेन्सर तक की पूरी तैयारी कर ली है।

स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद ही रहेंगे। प्लेटफॉर्म टिकट, काउंटर टिकट नहीं जारी किए जाएंगे। यात्रा के दौरान फेस कवर करना जरूरी है। डिपार्चर के वक्त स्क्रीनिंग की जाएगी। केवल उन्हीं यात्रियों को इजाजत मिलेगी, जिनमें संक्रमण के लक्षण नहीं पाए जाएंगे। केवल उन्हीं यात्रियों को रेलवे स्टेशन पर आने की इजाजत दी जाएगी, जिनके टिकट कन्फर्म होंगे। भारतीय रेलवे की योजना है कि 12 मई, 2020 से यात्री ट्रेन संचालन को धीरे-धीरे फिर से शुरू किया जाए। शुरुआत में 15 जोड़ी ट्रेनों (30 वापसी यात्रा) को ही चलाया जाएगा। ये ट्रेनें डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी को जोड़ने वाली नई दिल्ली स्टेशन से विशेष ट्रेनों के रूप में चलाई जाएंगी।
यात्रा से कम से कम एक घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। बिना लक्षण वाले लोगों को ही मिलेगी यात्रा की अनुमति। मास्क पहनना सभी यात्रियों के लिए अनिवार्य रहेगा। सभी के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु एप भी अनिवार्य। टिकट बुकिंग में किसी भी तरह की रियायत नहीं मिलेगी। तत्काल, प्रीमियम तत्काल और करेंट बुकिंग नहीं होगी। अभी केवल एसी कोच के साथ ही चलेंगी सभी स्पेशल ट्रेनें। ट्रेन में कंबल और चादर की सुविधा यात्रियों को नहीं मिलेगी। एसी कोच का तापमान भी सामान्य से थोड़ा ज्यादा रहेगा। सफर के रास्ते में खाने-पीने का कोई सामान नहीं मिलेगा।

भारतीय रेलवे कोरोना वायरस देखभाल केंद्रों के लिए 20,000 कोचों को आरक्षित करने के बाद उपलब्ध कोचों के आधार पर नए मार्गों पर और अधिक विशेष सेवाएं शुरू करेगा। इसके अतिरिक्त श्रमिक स्पेशल के तौर पर 300 ट्रेनों के के संचालन के लिए भी कोचों को अलग से आरक्षित किया जाएगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा है – हम अभी कुछ ही ट्रेन प्रयोग के तौर पर चला रहे हैं। धीरे धीरे इसकी संख्या बढ़ाई जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one + one =