विधानसभा में बहुमत साबित करें कमलनाथ,भाजपा ने लिखा राज्यपाल को पत्र

(New Delhi) भाजपा ने सोमवार को दावा किया कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार अब अल्पमत में है।भाजपा नेता गोपाल भार्गव ने कहा कि,मुख्यमंत्री कमलनाथ को सदन में एक बार फिर से बहुमत सिद्ध करके दिखाना चाहिए।उन्होंने कहा कि वे राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से राज्य विधानसभा का एक विशेष सत्र बुलाने के लिए कहेंगे ताकि महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की जा सके और कांग्रेस सरकार की ताकत का परीक्षण भी किया जा सके।
भाजपा नेता का ये बयान तब आया जब ज्यादातर एग्जिट पोल में कांग्रेस की स्थिति बेहद कमजोर नजर आ रही है। बीजेपी को 29 लोकसभा सीटों का एक
बड़ा हिस्सा मिलने की उम्मीद है,तो कांग्रेस ने भाजपो को पांच से अधिक सीटें नहीं मिलने की भविष्यवाणी की है।


भाजपा नेता भार्गव ने कहा कि “मैं शीघ्र ही मप्र विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के लिए राज्यपाल को पत्र लिख रहा हूं। हम चाहते हैं कि कृषि ऋण माफी और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर सरकारी ताकत का परीक्षण किया जाये, “
भाजपा नेता ने कहा कि पार्टी यह जांचने के लिए कि “कमजोर” कांग्रेस सरकार को सदन में समर्थन मिला है या नहीं। उन्होंने कहा, “मप्र में कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार की स्थिरता को लेकर बहुत भ्रम है।”
भार्गव ने कहा कि कांग्रेस सदन में मुद्दों पर बहस करने के बजाय पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के आवास पर कागजात डंप कर रही थी, जिसमें दावा किया गया था कि मध्य प्रदेश में 21 लाख किसानों के ऋण माफ किए गए थे।
2018 के विधानसभा चुनावों में, कांग्रेस ने 230 सीटों वाली विधानसभा में से 114 सीटें जीती थी जो कि बहुमत से 2 कम है और बीजेपी 109 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर आई थी। बहुजन समाज पार्टी के पास दो सीटें हैं, समाजवादी पार्टी के पास एक और निर्दलीय के पास चार सीटें हैं।