महाराष्ट्र: बोले शरद पवार- शिवसेना-BJP जल्द बनाए सरकार, देरी से हो रहा अर्थव्यवस्था को नुकसान

New Delhi: महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना के बीच सरकार बनाने को लेकर चल रही खींच-तान के बीच बार-बार संभावनाओं को देखते हुए NCP और कांग्रेस की और ताका जा रहा है, लेकिन शरद पवार बार बार कह रहे हैं कि भाजपा और शिवसेना को ही मिलकर सरकार बनानी चाहिए। एक बार फिर NCP अध्यक्ष पवार ने कहा कि भाजपा और शिवसेना को मिलकर जल्द से जल्द सरकार बनानी चाहिए।

आरपीआई प्रमुख रामदास अठावले से मुलाकात के बाद मीडिया से बात करते हुए पवार ने कहा, “शिवसेना और बीजेपी को जनादेश मिला है और उन्हें सरकार बनानी चाहिए। इसी पर अठावले और मैंने चर्चा की है और हम इस बिंदु पर सहमत भी हुए हैं।”

यह कहते हुए कि शिवसेना और भाजपा को एक स्थिर सरकार बनाने के लिए आगे आना चाहिए, पवार ने कहा, “सरकार का गठन बिना किसी देरी के होना चाहिए। सरकार बनाने में देरी राज्य को आर्थिक और आम तौर पर भी प्रभावित कर रही है।”

इससे पहले बुधवार को शिवसेना के प्रवक्ता और सांसद संजय राउत ने मुंबई में राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) सुप्रीमो शरद पवार से मुलाकात की। अटकलें लगाई जा रही हैं कि शिवसेना एनसीपी के साथ मिलकर सरकार बना सकती है। कांग्रेस बाहर से समर्थन कर सकती है। मुलाकात के बाद राउत ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया, ”शरद पवार राज्य और देश के एक वरिष्ठ नेता हैं। वह आज महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक स्थिति को लेकर चिंतित हैं। हमारे बीच एक संक्षिप्त चर्चा हुई।”

राउत ने मुंबई में कहा, ”हम केवल उस प्रस्ताव पर चर्चा करेंगे जिस पर हम विधानसभा चुनावों से पहले सहमत हुए थे। कोई नया प्रस्ताव एक्सचेंज नहीं किया जाएगा। बीजेपी और शिवसेना ने चुनावों से पहले मुख्यमंत्री के पद के लिए एक समझौता किया था। इस समझौते के बाद ही चुनावों के लिए गठबंधन हुआ था।”

आपको बता दें कि राज्य में जारी राजनीतिक गतिरो’ध के बीच बीजेपी ने शिवसेना के साथ किसी भी मुद्दे पर बातचीत करने के लिए अपनी तैयारी दर्शाई। वहीं शिवसेना ने कहा है कि बीजेपी यदि लिखित प्रस्ताव दे तो चर्चा की जा सकती है।

बता दें कि 21 अक्टूबर को 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा के लिए हुए चुनावों में बीजेपी ने 105 सीटों, शिवसेना ने 56, राकांपा ने 54 और कांग्रेस ने 44 सीटों पर जीत दर्ज की थी।