कर्नाटक मामला : बीजेपी विधायक विधानसभा में धरना देने के लिए चादर और तकिए के साथ पंहुचे

New Delhi: कर्नाटक में सियासी नाटक लगातार जारी है। विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार ने फ्लोर टेस्ट कराये बिना सदन की कार्यवाही कल तक के लिये स्थगित कर दी है। विधानसभा अध्यक्ष  के इस फैसले पर भाजपा के सारे विधायक आज विधानसभा में रात भर धरना देने जा रहे है। इस धरने के लिए बीजेपी विधायक प्रभु चव्हाण बिस्तर पर चादर और तकिया के साथ विधान सभा पहुंचे। फ्लोर टेस्ट की मांग को लेकर बीजेपी विधायक एक रात ‘विधानसभा’ में धरना दे रहे है।

गैरतलब है कि कर्नाटक बीजेपी प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने विधानसभा में कहा था कि भले ही आज आधी रात हो जाये विश्वास मत आज ही हो। उन्होंने अध्यक्ष से मांग की है वह राज्यपाल के पत्र का जवाब दें और आज ही विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आयोजित करे। कांग्रेस के विधायक एचके पाटिल ने राज्यपाल के आदेश का विरोध करते हुये कहा भारतीय संविधान के अनुसार राज्यपाल को सत्र की कार्यवाही में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिये। मैं राज्यपाल से अनुरोध करता हूं कि वे सत्र की कार्यवाही में हस्तक्षेप न करें। आज कर्नाटक विधानसभा की कार्यवाही के दौरान कांग्रेस विधायकों ने अपने विधायक श्रीमंत पाटिल की तस्वीरों के साथ विरोध प्रदर्शन किया, जो कि फिलहाल मुंबई के एक अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं। जिसे कांग्रेस ने बीजेपी की साजिश बताया है।

कर्नाटक फ्लोर टेस्ट मामले में राज्यपाल वजुभाई वाला ने विधानसभा अध्यक्ष केआर रमेश कुमार को सुझाव दिया है। उन्होंने अध्यक्ष से कहा कि “सदन में विश्वास प्रस्ताव विचाराधीन है। मुख्यमंत्री से हर समय सदन का विश्वास बनाए रखने की अपेक्षा की जाती है। दिन के अंत तक विश्वास मत पर विचार करें।” गौरतलब है कि कर्नाटक में आज सरकार का फ्लोर टेस्ट होना है। जिसके लिए सत्तारूढ़ जेडीएस-कांग्रेस और मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा विश्वास मत हासिल करने के लिए जुटी है।
कर्नाटक: बीजेपी विधायक प्रभु चव्हाण बिस्तर पर चादर और तकिया के साथ विधान सभा पहुंचे। फ्लोर टेस्ट की मांग को लेकर बीजेपी विधायक एक रात ‘विधानसभा’ (विधानसभा) में रहे।