झारखंड में शुरुआती रुझानों में BJP बनी सबसे बड़ी पार्टी..दोबारा बन सकती है रघुवर सरकार

New Delhi : झारखंड विधानसभा चुनाव के शुरुआती नतीजों में बीजेपी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर रही है लेकिन किसी भी दल को स्‍पष्‍ट बहुमत मिलता नहीं दिख रहा है। राज्‍य की सभी 81 सीटों के रुझान आ गए हैं। इनमें से 34 सीटों पर बीजेपी आगे है।

वहीं झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM), कांग्रेस और राजद गठबंधन 35 सीटों पर आगे दिख रहे हैं। इस तरह राज्‍य में त्रिशंकु विधानसभा के आसार दिख रहे हैं। सुदेश महतो की पार्टी आजसू-8 सीटों पर आगे चल रही है। कहा जा रहा है कि ये पार्टी किंगमेकर की भूमिका में आ सकती है। ऐसा इसलिए क्‍योंकि चुनावों से पहले ये पार्टी बीजेपी के साथ सत्‍ता में थी लेकिन चुनाव के वक्‍त सीटों पर सहमति नहीं बन पाने के कारण इसने अलग से चुनाव लड़ा। ऐसे में इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि यदि ये एक बार फिर अब बीजेपी के साथ गठबंधन करेगी तो बीजेपी सरकार बना सकती है। बीजेपी के साथ गठबंधन की स्थिति में मौजूदा रुझानों के मुताबिक इनको 43 सीटें मिल सकती हैं। इस कारण कहा जा रहा है कि आजसू अध्‍यक्ष सुदेश महतो के हाथ में सत्‍ता की चाबी आ सकती है। सुरेश महतो पिछली बीजेपी सरकार में उपमुख्‍यमंत्री रहे हैं।

ताजा रुझानों के मुताबिक विपक्षी गठबंधन जेएमएम-18+ कांग्रेस-14+ राजद-1 सीटों पर आगे है। इसी तरह बाबूलाल मरांडी की जेवीएम भी तीन सीटों पर आगे चल रही है। इसी तरह अन्‍य दो सीटों पर आगे हैं।

वैसे मतगणना के दिन जिस सीट पर सबकी निगाहें टिकी हैं, वह है जमशेदपुर पूर्वी सीट। मुख्यमंत्री रघुवर दास वर्ष 1995 से यहां से जीतते आ रहे हैं। उनके खिलाफ उनके पूर्व-कैबिनेट सहयोगी सरयू राय मैदान में हैं। राय ने पार्टी से टिकट कटने के बाद बगावत कर मुख्यमंत्री की राह का कांटा बनने का फैसला किया। अन्य महत्वपूर्ण सीटें हैं-दुमका और बरेट, जहां से झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकारी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन चुनाव लड़ रहे हैं। दुमका में वह समाज कल्याण मंत्री लुइस मरांडी के खिलाफ मैदान में हैं