बिहार सरकार में शामिल दल एक दूसरे पर दो’षारोपण करने के बजाय लोगों की मदद पर ध्यान दें : कन्हैया

New Delhi: एक बार फिर बिहार बाढ़ का क’हर झेल रहा है। स्मार्ट सिटी पटना सबसे ज्यादा प्रभावित है। नेताओं के घर में तक पानी घुस गया है। विपक्ष और पक्ष में आ’रोप-प्रत्या’रोप का दौर भी जारी है। जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता और लोकसभा में हाथ अजमाने वाले कन्हैया कुमार ने कहा कि,’ सरकार में शामिल दलों से अपील है कि एक दूसरे पर दो’षा’रोपण करने की बजाय त्यौहार के समय आपदा से जूझ रहे लोगों के लिए बिना किसी विलम्ब के मुआवज़ा व पुनर्वास का काम करें। हमारे साथी जगह-जगह टोलियाँ बनाकर राहत के काम में लगे हुए हैं, बाक़ी लोगों से भी जन भागीदारी व सहयोग की अपील है’।

कन्हैया ने अपने दूसरे ट्वीट में कहा कि , ‘ बिहार इस समय प्राकृतिक आ’पदाओं से जूझ रहा है और सत्तारूढ़ दलों के प्रवक्ता राहत कार्यों की ज़िम्मेदारी लेने की बजाय एक दूसरे से जूझ रहे हैं। कई इलाक़े सू’खा ग्रस्त हैं और कई इ’लाक़े बाढ़ में डूबे हुए हैं। बिहार के लोग इन सभी इलाक़ों को आ’पदाग्रस्त घोषित करने की माँग कर रहे है’।

बिहार में भा’री बारिश ने अपना आ’तंक मचा रखा है। लगातार हो रही बारिश और बा’ढ़ जैसे हालातों के बीच राज्य में म’रने वालों का आंकड़ा अब 29 पर पहुंच चुका है। चिं’ता की बात ये है कि मौसम विभाग ने इस बात की भविष्यवाणी की है कि आने वाले कुछ दिनों तक बिहार में भा’री बारिश का क’हर जारी रहेगा।

राज्य ने प्रभावित क्षेत्र के लिए पानी निकालने वाली मशीनों की भी मांग ​की है जिससे राहत कार्य में मदद मिल सके।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को राज्य के बा’ढ़ प्र’भावित इलाकों का जायजा लेने के लिए राज्य का दौरा किया। इसी के साथ हालातों में सुधार कार्य करने के​ लिए उन्होंने अधिकारियों को जरूरी दिशानिर्देश भी दिए।

राज्य के बा’ढ़ प्र’भावित इलाकों का दौरा करने से पहले उन्होंने पटना में मीडिया से बात करते हुए कहा कि कल से कुछ क्षेत्रों में भा’री बारिश हो रही है और गंगा नदी में पानी लगातार बढ़ रहा है। लेकिन उचित व्यवस्थाएं हैं और प्रशासन मौके पर है और लोगों की मदद करने की हर संभव कोशिश कर रहा है। मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक अगले ​कुछ दिनों तक पटना में आं’धी-तू’फान के साथ भा’री बारिश होगी