दलित युवक को पीटने के बाद पिलाई गई पेशाब, मौत

New Delhi: पंजाब के संगरूर जिले में एक गाँव है छांगलीवाला। इसी गाँव में घर था 37 वर्षीय एक दलित युवक रिंकू का। जिसे इतनी बेरहमी से पीटा गया कि इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

उसे सिर्फ पीटा ही नहीं गया उसे पेशाब तक पिलाया गया। शनिवार की सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। पुलिस ने यह जानकारी दी। रिंकू का कुछ अन्य लोगों के साथ विवाद था। जब वह विवाद पर बात कर रहा था तभी उसे बेरहमी से पीटा गया था। युवक ने जब पानी माँगा तो पानी की जगह उसे पेशाब पिलाई गई।


चार लोगों के खिलाफ अवैध तरीके से बंधक बनाने और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के साथ-साथ अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम के तहत लेहरा थाने में मामला दर्ज किया गया है।

संगरूर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) संदीप गर्ग ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि पीड़ित युवक ने स्नातकोत्तर चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पंजाब अनुसूचित जाति आयोग ने भी संगरूर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मामले में रिपोर्ट देने को कहा है। आयोग की अध्यक्ष तेजिंदर कौर ने एक बयान में कहा कि मीडिया में आई खबरों से घटना की जानकारी मिली जिसके आधार पर स्व संज्ञान लेकर रिपोर्ट तलब की गई है।