अब बलूचिस्तान के लोगों ने पीएम मोदी से कहा-हमें पाकिस्तान से आजाद करवाऐं PM मोदी

New Delhi :  ह्यूस्टन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जहां भारतीय मूल के लोगों को संबोधित करेंगे, वहां बड़ी संख्या में सिंधी, बलूच और पश्तो समुदाय के लोग पहुंच गए हैं। ये लोग पाकिस्तान के खिलाफ एनआरजी स्टेडियम के बाहर प्रदर्शन करेंगे। बलूच अमेरिकन, सिंधी अमेरिकन और पश्तो अमेरिकन समुदाय के लोग शनिवार को ही ह्यूस्टन पहुंच गए।

बलूच नेशनल मूवमेंट से जुड़े नेता नबी बक्श बलोच ने कहा कि हम पाकिस्तान से आजादी चाहते हैं, भारत और अमेरिका को हमें आजादी पाने में उसी तरह से मदद करनी चाहिए जैसे कि भारत ने बांग्लादेश की 1971 में की थी। नबी बक्श ने कहा कि हम यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप से अपने संघर्ष में मदद मांगने आए हैं। पाकिस्तान की सेना बलूचों का दमन कर रही है।

सिंधी एक्टिविस्ट जफर ने कहा कि सिंधी समुदाय के लोग एक संदेश लेकर ह्यूस्टन आए हैं , जब नरेंद्र मोदी यहां से गुजरेंगे तो हम उन्हें संदेश देंगे कि हम आजादी चाहते हैं। हमें उम्मीद है कि मोदी और राष्ट्रपति ट्रंप हमारी मदद करेंगे। इन संगठनों के लोगों ने कहा कि पाकिस्तान की सरकार हमारे मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रही है।

शनिवार को 100 से ज्यादा अमेरिकन सिंधी ह्यूस्टन पहुंचे। इन्हें उम्मीद है कि इनका प्रदर्शन और बैनर-पोस्टर मोदी और ट्रंप का ध्यान अपनी ओर खीचेंगे। जीये सिंध मताहिदा मुहाज नाम के संगठन से जुड़े जफर सहितो ने कहा कि ये रैली दुनिया के सबसे बड़े और सबसे पुराने लोकतंत्र से जुड़े नेताओं की है। जफर ने कहा कि जिस तरह भारत ने 1971 में बांग्लादेश की आजादी का समर्थन किया उसकी तरह से उन्हें हमारी आजादी की लड़ाई का भी समर्थन करना चाहिए।