बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा का बयान, मेरी समझ के बाहर वोटर लिस्ट में मेरा नाम गायब होना

New Delhi:  भारी सुरक्षा के बीच तेलंगाना विधानसभा चुनाव के लिए मतदान आज सुबह से जारी है। सुबह सात बजे से मतदान डाले जा रहे हैं। आपको बता दें कि राज्य की 119 विधानसभा सीटों पर चुनाव हो रहा हैं। लेकिन इस बीच खबर आई कि बैडमिंटन खिलाड़ी ज्वाला गुट्टा का नाम वोटर लिस्ट से गायब हैं। ज्वाला गुट्टा ने पहले लोगों से वोट डालने की अपील की, इसके बाद वह वोट डालने के लिए मतदान केंद्र पहुंची, लेकिन वहां उन्हें अपना नाम वोटर लिस्ट में नहीं मिला।

वोटर लिस्ट में ज्वाला गुट्टा ने बयान देते हुए कहा कि मैंने 2-3 हफ्ते पहले ही मैनें ऑनलाइन अपना नाम चेक किया था, तब मेरी मां और मेरा नाम लिस्ट में शामिल था, लेकिन मेरे पिता और मेरी बहन का नाम गायब था। आज जब हम वोट डालने गए तो मेरा नाम वोटर लिस्ट से गायब मिला। ज्वाला गुट्टा ने कहा कि मुझे समझ नहीं आता कि मेरा नाम कैसे गायब हो सकता हैं, मैं यहां 12 साल से रह रही हूं।

Jwala Gutta

वहीं इस पर आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा। केजरीवाल ने ज्वाला गुट्टा के ट्वीट को लेते हुए कहा कि ये पूरे देश में हो रहा हैं, वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट के जरिए कहा कि बैडमिंटन चैंपियन, अर्जुन पुरस्तकार विजेता, 2 बार ओलंपियन रह चुकी ज्वाला गुट्टा का नाम वोटर लिस्ट से गायब हो गया, चुनाव आयोग इसका जवाब दे कि एक गर्व खिलाड़ी का नाम मतदाता लिस्ट से कैसे गायब हो गया।

आपको बता दें कि वोटर लिस्ट से नाम गायब होने पर ज्वाला काफी नाराज हो दई। आपको बता दें कि ज्वाला गुट्टा हैदराबाद से हैं र वोटर लिस्ट में नाम ना होने की वजह से अपना वोट नहीं डाल पा रही हैं। ज्वाला गुट्टा ने इस मामले को लेकर दो ट्वीट किए। पहले ट्वीट में ज्वाला गुट्टा ने लिखा कि ऑनलाइन अपना नाम देखने के बाद यहां वोटर लिस्ट से मेरा नाम गायब हैं, मैं हैरान हूं। वहीं दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा कि यह चुनाव कैसे सही हो सकता है, जब आपका नाम वोटर लिस्ट से गायब हो रहा है।

आपको बता दें कि बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु और पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी और कोच पुलेला गोपीचंद ने तेलंगाना में वोट डाल दिया है। आधिकारियों का कहना है कि राज्य के 31 जिलों में 32,815 मतदान केंद्रों पर मतदान प्रक्रिया जारी है। कुछ मतदान केंद्रों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों यानी EVM में तकनीकी गड़बड़ी के कारण मतदान देऱी से शुरू हुआ। तेलंगाना में 2.8 करोड़ से ज्यादा मतदाता अपने वोट देने के अधिकार का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस में आधी से ज्यादा महिलाएं मतदाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *