बाबा का ढाबा- प्रारंभिक जांच के बाद YouTuber गौरव वासन के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर

New Delhi : बाबा का ढाबा के मालिक कांता प्रसाद (80) को धोखा देने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने YouTuber Gaurav Wasan के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। एक महीने पहले ही वासन ने मालवीय नगर में एक वीडियो के जरिये बाबा के ढाबा को फेमस कर दिया था। उस वीडियो में दिखाया गया था कि बाबा के ढाबा में कस्टमर नहीं आ रहे और बाबा की हालत खराब है। ग्राहकों की कमी के बारे में बात करते हुये प्रसाद और उनकी पत्नी वीडियो में रोने लगीं। वीडियो देखते ही देखते वायरल हो गया और बाबा का ढाबा वर्ल्ड फेमस हो गया है। इसी बीच लोगों ने बाबा की मदद के लिये चंदा करना शुरू किया और इसी चंदे के पैसे को लेकर विवाद शुरू हुआ।

इस मामले में 31 अक्टूबर को कांता प्रसाद ने वासन के खिलाफ उनकी मदद के लिये उगाहे गये पैसे के दुरुपयोग के लिये शिकायत दर्ज की थी। डीसीपी साउथ अतुल कुमार ठाकुर ने कहा- शिकायतकर्ता के अनुसार, वासन ने जानबूझकर दान में दिये वीडियो में केवल अपने और अपने परिवार के सदस्यों के बैंक विवरण और मोबाइल नंबर साझा किये। प्राथमिक जांच की गई, जिसके बाद धोखाधड़ी की धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।
इधर इस मामले में प्रसाद ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित की और आरोप लगाया कि उन्हें दान का एक बड़ा हिस्सा नहीं मिला है। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि वासन अपराधी है लेकिन मैं सच्चाई जानना चाहता हूं। मुझे संदेह है कि उसके पास मेरा पैसा है, जिसे उसे वापस करना चाहिये। उनके वकील प्रेम जोशी और ब्लॉगर तुषांत ने दावा किया कि वसन को ट्रोल किये जाने के बाद उन्होंने कुछ पैसे दिये। गौरव ने 7 अक्टूबर से 10 तक अपने अकाउंट स्टेटमेंट का खुलासा किया है। हम इसे 26 अक्टूबर तक देखना चाहते हैं।

27 अक्टूबर को वासन ने लेन-देन की तीन रसीदें साझा कीं – 1,00,000 रुपये के दो चेक और 2,33,000 रुपये और 45,000 रुपये के बैंक भुगतान की रसीद। वासन ने कहा- मैंने 2 नवंबर तक पुलिस को बैंक खाता विवरण प्रस्तुत नहीं किये हैं। मैंने किसी को धोखा नहीं दिया। बाबा को अपने खाते की जांच करनी चाहिये। प्रसाद ने कहा कि वह अपने बैंक स्टेटमेंट को एक्सेस नहीं कर पाये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirteen − = six