गिरिराज सिंह बोले, हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम हो, आजम बोले- फां’सी क्यों नहीं

NEW DELHI: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि हिंदुस्तान 1947 की तरह सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, हिंदुस्तान में जनसंख्या विस्फोट अर्थव्यवस्था, सामाजिक समरसता और संसाधन का संतुलन बिगाड़ रहा है।

जनसंख्या नियंत्रण पर धार्मिक व्यवधान भी एक कारण है। हिंदुस्तान 47 की तर्ज़ पर सांस्कृतिक विभाजन की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने आगे लिखा, सभी राजनीतिक दलों को जनसंख्या नियंत्रण क़ानून के लिए आगे आना होगा। दूसरी तरफ, समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता व सांसद आजम खां ने केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान पर पलटवार किया है। उन्होंने गुरुवार को तंज कसते हुए कहा कि दो-तीन से ज्यादा बच्चे पैदा करने वाले पति-पत्नी को फां’सी दे देनी चाहिए।

सपा नेता ने अपने बयान में कहा, “दो से ज्यादा बच्चे होने पर वोटिंग का अधिकार क्या खत्म करना, फांसी ही दे देनी चाहिए। इसके बाद अगला बच्चा होगा ही नहीं, क्योंकि इसके बाद न रहेगा बांस और न बजेगी बांसुरी।” सांसद आजम ने कहा कि देश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है।

मौजूदा केंद्र सरकार के शासन से अंग्रेजों का शासन बेहतर था। बता दें बेगूसराय के भाजपा सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने विश्व जनसंख्या दिवस के मौके पर कहा था कि देश में हिंदू-मुस्लिम दोनों के लिए दो बच्चों का नियम होना चाहिए और जो इस नियम को न माने, उसका मताधिकार खत्म कर दिया जाना चाहिए।