विमानन मंत्री बोले- सब ठीक रहा तो अगस्त-सितंबर से पहले इंटरनेशनल फ्लाइट्स शुरू हो जायेंगी

New Delhi : नागरिक विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लाइव हुये। उन्होंने लोगों के सवालों के जवाब दिये। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा- अगस्त-सितंबर से पहले हम इंटरनेशनल फ्लाइट्स सेवाएं शुरू कर सकते हैं। फ्लाइट शुरू करने से पहले कोरोना के हालात का आकलन किया जाएगा। इंटरनेशनल फ्लाइट सेवाएं शुरू करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस कंपनियां पूरी तरह से तैयार हैं।

Posted by Hardeep Singh Puri on Saturday, May 23, 2020

उन्होंने बताया – अगर डिमांड अच्छी रही और राज्यों के साथ तालमेल ठीक रहा तो जल्द ही घरेलू उड़ानों की संख्या बढ़ा दी जायेगी। लॉकडाउन के चलते रद्द हुईं फ्लाइट्स को लेकर बड़ी संख्या में लोगों ने सवाल पूछा। बताया कि एयरलाइन कंपनियां रिफंड नहीं दे रही हैं। कई बार शिकायत करने के बावजूद वह कोई बात नहीं सुन रहे हैं। इस पर पुरी ने कहा – रिफंड के लिए पहले ही गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं। सभी को कहा गया है कि वे लॉकडाउन के चलते रद्द हुई फ्लाइट्स का पूरा किराया पैसेंजर्स को रिफंड करें। बार-बार इसके बारे में नहीं बताया जा सकता। यह कमर्शियल मामला है। एयरलाइंस कंपनियां ही इसे देखेंगी।

इसके पहले उन्होंने बताया – अभी तक वंदे भारत मिशन के जरिए 25 हजार 465 भारतीयों को वापस लाया गया है। मई के आखिरी तक ये आंकड़ा 50 हजार के करीब हो जायेगा। भारत से लॉकडाउन के बीच 8 हजार लोगों को विदेश पहुंचाया गया। ये लोग विदेश में जॉब करते थे। इनकी प्रोफेशनल्स मांग थी। इससे कहीं ज्यादा लोग विदेश जाना चाहते थे लेकिन कई देश हैं जो फिलहाल अपने ही नागरिकों को ले रहे हैं।
बता दें कि केंद्र सरकार के 25 मई से हवाई उड़ानों के फैसलों के बाद 22 मई से टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई। सरकार ने आठ विमान कंपनियों को उड़ानें शुरू करने की अनुमति दी है। सुबह सबसे पहले इंडिगो ने बुकिंग शुरू की और शाम होते होते बाकी कंपनियों ने भी टिकट बुकिंग शुरू कर दी। जिन्होंने हड़बड़ी में टिकट पहले बुक कराई उन्हें हवाई जहाज की टिकटें महंगी मिली और शाम तक आते-आते तो टिकटों की कीमतें कम हो गईं।
नागरिक विमानन मंत्री हरदीप पुरी ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 25 मई से शुरू होने वाली घरेलू उड़ानों और किरायों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि उड़ान शुरू होने के दिन से अगले तीन महीने तक के लिए किराये फिक्स कर दिये गये हैं। एयरलाइन मनमानी नहीं कर सकेंगे। दिल्ली-मुंबई का 90-120 मिनट की उड़ान का मिनिमम किराया 3 हजार 500 रुपये और मैक्सिमम 10 हजार रुपये होगा।
पुरी के साथ मौजूद रहे नागरिक विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरौला ने बताया कि 40% सीटें प्राइस बैंड के मिडपॉइंट के कम प्राइस पर बेची जाएंगी। उन्होंने उदाहरण दिया कि 3 हजार 500 रुपए से 10 हजार रुपए के प्राइस बैंड का मिडपॉइंट 6 हजार 700 रुपए होता है। यानी इस प्राइस बैंड में 40% सीटें 6 हजार 700 रुपए से कम प्राइस पर बुक करनी होंगी।

पुरी ने बताया कि जिन मेट्रो शहरों से नॉन-मेट्रो के लिए हफ्ते में 100 से ज्यादा उड़ानें हैं, उन रूट पर शुरुआत में एक तिहाई फ्लाइट ही ऑपरेट की जाएंगी। दो यात्रियों के बीच की सीट खाली रखेंगे तो भी सोशल डिस्टेंसिंग लागू नहीं हो पाएगी, इसलिए एयरलाइंस को मिडिल सीट बुक करने की परमिशन होगी। यात्रियों को प्रोटेक्टिव गियर पहनना होगा, फेस मास्क लगाना होगा और सेनिटाइजर बोटल साथ मे लेकर चलना होगा। एयरलाइंस की तरफ से यात्रा के वक्त खाना नहीं दिया जाएगा। पानी की बोतर सीट या फिर गैलरी एरिया में उपलब्ध रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 + eight =