ऑस्ट्रेलिया बनाम पाकिस्तान,अपने इन खिलाड़ियों पर टिकी हैं दोनों टीमों की उम्मीदें

New Delhi: 12 जून को पाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच मैच खेला जाना है। ऑस्ट्रलिया के लिए यह मैच काफी अहम् साबित होने वाला है,क्योंकि इससे पहले ऑस्ट्रेलियन टीम अपना पिछला मैच टीम इंडिया से हार गयी थी

उस मैच में इंडिया ने पहले बैटिंग करते हुए शिखर धवन के शानदार शतक के बदौलत 352 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था। जवाब में ऑस्ट्रेलियन टीम 316 रन पर ही आल आउट हो गई थी। ऑस्ट्रलिया के तरफ से वार्नर,स्मिथ,और विकेट कीपर अलेक्स कैरी ने भले ही अर्धशतकीय पारी खेली हो लेकिन वे सभी अपनी टीम को जीत दिला पाने में कामयाब नहीं हो सके। वहीँ अगर पाकिस्तान की बात की जाय तो उसका पिछले मैच बारिश में धुल गया था ,यह मैच पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच खेला जाना था। मैच रद्द होने के कारण से दोनों टीमों को एक एक अंक दिया गया था।

 

ऐसे में दोनों ही टीमें इस मैच को हर हाल में ही जीतना चाहेगीं। दोनों ही टीमें बेहतरीन खिलाड़ियों से भरी हुई हैं। तो आइये उन खिलाड़ियों के बारे में जान लेते हैं जिनसे दोनों ही टीमों को उम्मीदें हैं।

 

स्टीव स्मिथ-एक साल का बैन झेलने के बाद टीम के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ भी अपनी पुरानी फॉर्म में लौट चुके हैं। और इस बात का संकेत उन्होंने वेस्टइंडीज और इंडिया के खिलाफ मैच में अर्धशतक लगा कर दे भी दिया है। वेस्टइंडीज के खिलाफ मैच में स्मिथ ने अपनी टीम को बेहद ही खराब शुरुआत से उबारते हुए एक अच्छे स्कोर तक ले जाने में सफल रहे थे।तो वहीँ इंडिया के खिलाफ भी स्मिथ ने बेहद ही संयमित पारी खेली थी,भले ही स्मिथ उस मैच में अपनी टीम को जीत दिला पाने में कामयाब ना हुए हों पर उनकी यह पारी वाकई में बहुत ही शानदार थी। स्मिथ इस समय टीम ऑस्ट्रेलिया के सबसे बेहतीन बल्लेबाज हैं।

मोहम्मद आमिर-27 साल के इस खिलाड़ी ने बैन के बाद वापसी करते हुए बॉलिंग के लिए प्रसिद्ध पाकिस्तानी टीम में एक नई जान फूंक दी है। बाएं हाथ के इस गेंदबाज के पास गेंद को स्विंग कराने की अद्भुत क्षमता मौजूद है। ऐसे में अगर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तानी टीम पहले बॉलिंग करती है तो आमिर पिच से मिलने वाली स्विंग का फायदा उठा कर ऑस्ट्रेलिया को मुश्किल में डाल सकते हैं।

मिचेल स्टार्क-वेस्टइंडीज के खिलाफ खेले गए मैच के दौरान मिचेल स्टार्क ने शानदार गेंदबाजी करते हुए अपनी टीम को जीत दिलाने में काफी अहम् भूमिका निभाई थी। स्टार्क ने इस मैच में इतिहास रचते हुए वन डे क्रिकेट में सबसे तेज 150 विकेट लेने का कारनामा किया।भले ही स्टार्क इंडिया के खिलाफ मैच में अपनी प्रतिष्ठा के अनुरूप प्रदर्शन ना कर पाए हों पर यह तेज गेंदबाज उस मैच की पूरी कसर पाकिस्तान के खिलाफ मैच में जरूर पूरी करना चाहेगा।चोट के बाद वापसी कर रहे मिचेल स्टार्क इस टीम का सबसे कारगर हथियार हैं और वे इस समय काफी बेहतरीन लय में दिख रहे हैं। स्टार्क अपनी तेज यार्कर और बेहतरीन स्विंग की मदद से भारतीय बल्लेबाजों के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं।2015 के वर्ल्ड कप में भी स्टार्क ने शानदार गेंदबाजी की थी और वह इस टूर्नामेंट के सबसे सफल बॉलर साबित हुए थे।

मुहम्मद हाफिज- मोहम्मद हाफिज इस पाकिस्तानी टीम के सबसे अनुभवी खिलाडी हैं। वो 2007और 2011 की अपनी विश्वकप टीम का भी हिस्सा रह चुके हैं।2015 में इंजरी के कारण हाफिज उस वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा नहीं बन पाए थे। उसके बाद हाफिज ने इंजरी से उबरते हुए शानदार वापसी की और 2019 की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा बनने में कामयाब रहे।इंग्लैंड के खिलाफ मैच में भी हाफिज अपनी टीम के सबसे सफल बल्लेबाज रहे थे। उन्होंने शानदार अर्धशतक लगते हुए 82 रनों की पारी खेली थी।