असम है कि मानता नहीं- 1 सितंबर से स्कूल खोलने की तैयारी, केंद्र की हां का इंतजार, ग्राउंड में क्लास

New Delhi : देश की हालत कोरोना से पस्त है। हर दिन पचास हजार से ज्यादा नये मरीज मिल रहे हैं। अमूमन सभी राज्यों में भी हालात ऐसे ही हैं। इसके बाद भी असम सरकार ने स्कूल-कॉलेजों को 1 सितंबर से दोबारा खोलने का प्लान तैयार किया है। हालांकि इस मसले पर अंतिम फैसला केंद्र सरकार के निर्देश पर निर्भर करता है लेकिन असम ने अपनी ओर से तो खांका खींच ही लिया है। असम के शिक्षा मंत्री हिमंत विश्व सरमा ने शनिवार को यह जानकारी देते हुये मीडिया के सामने राज्य सरकार का पूरा प्लान बताया।

सरमा ने मीडिया से बात करते हुये कहा- सभी शिक्षकों और कर्मचारियों को पहले टेस्ट कराना होगा। 23 अगस्त से 30 अगस्त के बीच टेस्ट कराने के लिये शिक्षा और स्वास्थ्य विभाग समन्वय करेंगे। हमने स्कूलों को दोबारा खोलने के लिये शुरुआती प्लान तैयार किया है, लेकिन पहले अभिभावकों और अन्य हितधारकों से चर्चा होनी है और केंद्र सरकार के निर्देशों के आधार पर ही इसे लागू किया जायेगा।
उन्होंने कहा – कक्षा चार तक के स्कूल सितंबर अंत तक बंद रहेंगे। शिक्षा मंत्री ने कहा कि 5वीं से 8वीं तक की क्लास खेल के मैदान या अन्य खुले स्थानों पर होंगी। क्लास को 15 बच्चों के सेक्शन में बांटा जायेगा और एक बार में इतने ही स्टूडेंट होंगे। 9वीं से 11वीं कक्षा तक के छात्र सप्ताह में दो दिन क्लासरूम में अंदर पढ़ाई करेंगे। एक बार में 15 स्टूडेंट ही क्लास में मौजूद होंगे। 10वीं और 12वीं के स्टूडेंट सप्ताह में चार दिन क्लास जायेंगे। एक दिन में तीन घंटे की पढ़ाई ही होगी।
शिक्षा मंत्री ने कहा- अधिकतम सोशल डिस्टेंशिंग का पालन करने के लिये प्रयास किये जायेंगे। स्कूल को शिफ्ट में बांटा जायेगा और निर्धारित समय पर ही किसी कक्षा के विद्यार्थी स्कूल आयेंगे। डिग्री कॉलेज लेवल पर केवल फाइनल सेमेस्टर की क्लास होगी और पोस्ट ग्रैजुएट स्टूडेंट्स के लिए यूनिवर्सिटी के स्तर पर फैसला लिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इन प्रस्तावों को शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर अपलोड किया जायेगा और 20 अगस्त तक लोग सुझाव दे सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + four =