वोटों की राजनीति में कामयाब होने के लिए मोदी, पटेल और गांधी का नाम लेते हैं : अशोक

New Delhi: महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बैठक बुलाई थी। बैठक के बाद मीडिया कर्मियों से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि – आज देश की जो हालत है उससे उबरने के लिए गांधी जी के हेरक सन्देश को युवाओं तक पहुंचाना जरुरी है। राजस्थान सरकार वह कर भी रही है। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा कि ,’ पिछ्ला साल विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनाव में गुजर गया इसलिए राजस्थान सरकार ने यह फैसला किया है कि अगले एक साल तक गांधी जी के जयंती को और मनाया जाएगा’।

गहलोत ने कहा कि ,’ जैसा गांधी जी कहा करते थे कि मेरा जीवन ही सन्देश है इसलिए आने वाले एक सालों तक गांधी के जीवन से युवाओं को अवगत कराया जाएगा। मीडियाकर्मियों से बात करते हुए गहलोत ने महात्मा गांधी को लेकर भाजपा पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि – मोदीजी व उनकी पूरी टीम ये लोग कभी महात्मा गांधी को मानते ही नहीं थे। जब आजादी की जंग हुई थी तब महात्मा गांधी, पंडित नेहरू,मौलाना आजाद, सरदार पटेल जैसे बड़े नेताओं ने आजादी में हिस्सा लिया। भाजपा और आरएसएस की आजादी में कोई भूमिका नहीं थी। लेकिन भाजपा और संघ युवाओं को गुमराह कर रही है।

‘इनका कोई संबंध ना गांधी से हैं, ना पटेल से है पर देश में वोटों की राजनीति में कामयाब होने के लिए ये दोनों महापुरुषों को लेकर चल पड़े हैं। हमें इनको एक्सपोज करना पड़ेगा कि इन्ही सरदार पटेल ने जिनका नाम मोदी जी बार-बार लेते हैं, गांधी जी की हत्या के बाद RSS पर प्रतिबंध लगाए थे’, गहलोत ने आगे कहा।