अभी-अभी: GST काउंसिल बैठक में फैसला, टीवी और कंप्यूटर समेत कई चीजें हुई सस्ती

New Delhi: दिल्ली के विज्ञान भवन में जीएसटी काउंसिल यानी वस्तु एवं सेवाकर परिषद की अहम बैठक आज हुई। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस बैठक की अध्यक्षता की। आपको बता दें कि यह जीएसटी काउंसिल की 31वीं बैठक थी। इस बैठक में 28 फीसदी स्लैब में शामिल 33 में से 6 उत्पादों को 18 फीसदी स्लैब में लाने का फैसला लिया गया।

इस फैसले के तहत अब मोटर व्हीकल पार्ट्स, टीवी, कंप्यूटर और टायर समेत कई चीजें सस्ती हो जाएगी जबकि 28 फीसदी स्लैब में अब सिन गुड्स और लग्जरी प्रोडक्ट्स को ही रखा जाएगा। सरकार पहले ही साफ कर चुकी हैं कि सिगरेट और तांबकू प्रोडक्ट को 28% के जीएसटी दायरे से बाहर नहीं किया जाएगा। वहीं विमान, लग्‍जरी गाड़ियों पर टैक्‍स कटौती की उम्‍मीद नहीं है।

Union Finance Minister Arun Jaitley

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी काउंसिल बैठक के बाद 33 चीजों में से 6 उत्पादों को 28 फीसदी की ऊंची स्लैब से नीचे लाने का ऐलान किया। इनमें टीवी और कंप्यूटर समेत 7 चीजें शामिल हैं। सरकार के इस फैसले के बाद जनता को राहत मिली हैं। 28 फीसदी स्लैब में अब सिन गुड्स और लग्जरी प्रोडक्ट्स को ही रखे जाने का फैसला लिया गया है।

वहीं जीएसटी काउंसिल की बैठक में हिस्सा लेने के बाद उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत ने कहा कि 22 वस्तुओं को 28 फीसदी स्लैब से नीचे लाया गया है। इनमें टायर, एलईडी टीवी, लीथियम बैटरी, वील चेयर, फुटवियर, फ्रोजन वेजिटेबल बिलियर्ड्स/स्नूकर, ऑटो पार्ट्स और कंप्यूटर जैसे वस्तुएं शामिल हैं। इसके अलावा, सिनेमा टिकट, थर्ड पार्टी इंश्योरेंस, वीडियो गेम और खेल के कई समानों पर 18 फीसद तक टैक्स लगाया गया। केरल के वित्त मंत्री टीएम थॉमस इस्साक ने बताया कि अब जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक जनवरी 2019 में होगी।

बात अगर लिस्ट की करे तो लिस्ट में सबसे ऊपर सीमेंट है, जिस पर अभी 28 फीसदी टैक्स लगता है। लेकिन इस बैठक में सीमेंट की कीमतों के बारे में चर्चा नहीं की गई। हाल ही में जीएसटी को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र। मोदी ने बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि सरकार यह सुनिश्चित करना चाहती है कि 99 फीसद वस्तुएं जीएसटी की 18 प्रतिशत या निचली कर दर के दायरे में आ जाएं।