मनमोहन सिंह ने GST काउंसिल के लिए अरुण जेटली को दिया ‘चेंजमेकर ऑफ द ईयर’ का अवॉर्ड

New Delhi: दिल्ली के अवॉर्ड समारोह में बीती शाम एक अलग ही नजारा देखने को मिला। जब पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने वित्त मंत्री अरुण जेटली को अवॉर्ड से सम्मानित किया।

दरअसल मीडिया ग्रप हिंदू बिजनेस लाइन की ओर से आयोजित चेंजमेकर अवॉर्ड्स में जीएसटी काउंसिल को चेंजमेकर ऑफर द ईयर अवॉर्ड दिया गया। जीएसटी काउंसिल के चेयरमैन होने के नाते वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के हाथों से यह अवॉर्ड रिसीव किया। हालांकि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहकर बीजेपी पर निशाना साधते रहे हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह इस अवॉर्ड समारोह में मुख्य अतिथि थे। जब जीएसटी काउंसिल की ओर से वित्त मंत्री अरुण जेटली अवॉर्ड लेने गए तो मंच पर शानदार नजारा देखने को मिला। जीएसटी काउंसिल को ये अवॉर्ड वन नेशन वन टैक्स की दिशा में काम करने के लिए दिया गया है।

जीएसटी काउंसिल ने संघवाद के सिद्धांतो पर काम करते हुए देश के अलग अलग राजनीतिक दलों को एक एक जगह पर लाया। जीएसटी काउंसिल का सबसे अच्छा उदाहरण ये है कि इसे विवादित मुद्दों को सुलझाने के लिए कभी वोटिंग का सहारा नहीं लेना पड़ा। इस काउंसिल में शामिल सदस्यों ने असहमति के सभी मुद्दो को साथ बैठकर सुलझाया।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

जीएसम काउंसिल के चेयरमैन होने के नाते वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस अवॉर्ड को स्वीकार किया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताकर नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं। उनका कहना है कि मोदी सरकार ने जीएसटी को सही तरीके से लागू नहीं किया।

अरुण जेटली ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- UPA के दौरान भी चीन ने नहीं दिया था भारत का साथ

जीएसटी का यह विचार यूपीए की सरकार के दौरान ही आया था। 10 नवंबर 2017 को राहुल गांधी ने कहा था कि वे देश में गब्बर सिंह टैक्स को थोपने नहीं देंगे। उन्होंने यह बात तब कही थी जह अरुण जेटली की आगुवाई वाली जीएसटी काउंसिल ने 177 चीजों से जीएसटी की दरें कम कर दी थी।