अंजना पांडे बोलीं – नवाज ने नहीं, उनके भाई-अम्मी ने मुझे मारा, सक्सेस हजम नहीं कर पा रहे

New Delhi : बॉलीवुड एक्टर नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी आलिया सिद्दीकी उर्फ अंजना किशोर पांडे ने बॉलीवुड लाइफ को इंटरव्यू देकर बताया – क्या फर्क पड़ता है कि आप कितने बड़े एक्टर बन गये हैं। अगर आप अच्छे इंसान नहीं हैं तो क्या फायदा। क्या फायदा कि आप अपने बच्चों का ख्याल नहीं करते और पत्नी का सम्मान नहीं करते। मेरे बच्चों को ये भी याद नहीं कि अंतिम बार उनके पिता कब मिलने आये थे। उनके परिवार में लगातार तलाक की परंपरा है और वे उसको कायम रख रहे हैं।

नवाज की पत्नी ने कहा – हमारी शादी में समस्या काफी पहले से ही शुरू हो गई थी, जब से मैंने नवाज से शादी की थी। लेकिन मैं कभी भी इस चीज को आगे लेकर नहीं आई। मैंने इस मामले को सुलझाने की कोशिश की। चीजों के ठीक होने का इंतजार किया। लेकिन आखिरकार मैंने यह निर्णय बहुत सोचने और विचारने के बाद लिया। यहां कई कारण हैं, जिसकी वजह से मैंने यह कदम उठाया है। असल में मेरा आत्मसम्मान पूरी तरह से खत्म हो गया था। जिस तरह से घर में आपकी परवरिश होती है। आपकी मां और भाई आपकी देखभाल करते हैं। फिर आपको धर्म बदलने के लिए कहा जाता है। खैर यह तो जरूरी था शादी करने के लिए। इसलिए जब उन्होंने मुझसे कहा तो मैंने यह किया।

अंजना ने आगे कहा – जल्द ही आपकी जिंदगी बदल जाती है। आपको एहसास होता है कि आप उनकी जिंदगी में कुछ भी नहीं हैं। आप केवल 10 सालों से उनके बच्चों के साथ अकेले रह रही हैं। आपको सभी चीजें अकेले करनी पड़ती हैं। इसलिए मैंने इसे खत्म करने के बारे में सोचा। जब मैं सारी चीजें अकेले कर रही हूं तो क्यों न अकेले ही रहूं। नवाज ने मुझ पर कभी हाथ नहीं उठाया, लेकिन चिल्लाना और झगड़ा सहनशक्ति से बाहर हो गया था। हां, लेकिन उनके परिवार ने मुझे शारीरिक और मानसिक तौर पर काफी टॉर्चर किया। उनके भाई ने मुझे मारा भी है। उनकी मम्मी और भाई हमारे साथ मुंबई में रहा करते थे। इसलिए मैंने काफी सालों से बहुत कुछ झेला है। अब मैं सिर्फ अपने बच्चों की कस्टडी चाहती हूं। कुछ लोग फेम नहीं झेल पाते और नवाज उनमें से एक हैं।

अंजना ने बताया – उनकी पहली पत्नी ने भी उन्हें इसलिए ही छोड़ा था। उनके परिवार के खिलाफ ऐसे करीब 7 केस दर्ज हैं और चार तलाक हो चुके हैं। यह पांचवा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

thirty nine − 38 =