गुस्ताखी माफ : कर्नाटक पर अमित शाह की मन की बात, जब तक तोड़ेंगे नहीं तब तक छोड़ेंगे नहीं

New Delhi: कर्नाटक में कई दिनों से सियासी नाटक जारी है। इस नाटक का लुत्फ कांग्रेस और जेडीएस को छोड़कर सभी पार्टियां उठा रहे हैं। इस नाटक में जितने भी किरदार है वो सभी पर्दे के पीछे  अपना रोल शानदार तरीके से निभा रहे हैं। इस मुद्दे पर देश के गृहमंत्री के शितेदारों के हवाले से फेकमेल ने खबर दी है कि पिछले कई दिनों  से गृहमंत्री मांझी द माउंटेन मैन फिल्म देख रहे हैं और कभी कभी इस फिल्म के डॉयलाग को जब तक तोड़ेंगे नहीं तब तक छोड़ेंगे नहीं को भी बोल लेते हैं।

उड़ती हुई खबरों के अनुसार अमित शाह ने जब से मांझी फिल्म को देखा है तब से ही वह उसके फैन हो गए हैं। गृहमंत्री अक्सर उस रोल में भी दिख भी जाते है, यह उनका सिनेमा के प्रति लगाव भी दिखाता है।

वहीं फेकमेल के रिपोर्टर ने जब सपने में  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से कर्नाटक पर सवाल पूछा तो उन्होंने पहले तो इसकी कड़ी निंदा की और फिर कहा कि इसका हमारे पार्टी से कोई लेना देना नहीं है। इसके लिए कांग्रेस जिम्मेदार क्योंकि उससे ही अपना घर नहीं संभाला जाता, तो हमें देश हित में सरकार बनाना ही पड़ेगा।

वहीं कांग्रेस के इस स्थिति के लिए पार्टी कार्यकर्ता नरेन्द्र मोदी को जिम्मेदार बता रहे हैं। उन्होंने अपने रटे रटाए बयान में कहा कि जब से नरेन्द्र मोदी सत्ता में आएं है तब से हमारे तो दिन ही लद गए है। राहुल गंधी को नरेन्द्र  मोदी के वजह से  अपने परिवार की बनी बनाई पार्टी के अध्यक्ष पद को छोड़ना पड़ा  और अब लगता है कि कर्नाटक में भी हमारी  सरकार चली जाएगी। एक और कार्य़कर्ता  ने  हमें बताया कि सच में कांग्रेस पार्टी के बुरे दिन चल रहे है, हम वहां भी हार रहे है जहां चुनाव नहीं चल रहे हैं।

नोट : इस कंटेंट का उद्देश्य ह्यूमर है। किसी व्यक्ति विशेष का मज़ाक़ उड़ाना नहीं।