अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने कहा- मसूद अजहर को आ’तंकी घोषित करने के लिए पर्याप्त कारण हैं

New Delhi: पाक की पनाह में पल रहा आतं’की मसूद अजहर को लेकर आज UNSC में बड़ा फैसला आना है। आज सभी देश पैनल की गठित कमेटी में मसूद को ग्लोबल आतं’की घोषित किये जाने पर हामी भरेंगे। वहीं आपको बता दें कि, इस मामले में अमेरिका ने कहा कि, वह भारत के साथ खड़ा है।

जिसके बाद अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता रॉबर्ट पलाडिनो ने बयान दिया है। जिसमें उन्होनें कहा है कि अजहर जैश-ए-मोहम्मद का संस्थापक और सरगना है तथा उसे संयुक्त राष्ट्र की ओर से आतं’कवादी घोषित करने के लिए यह पर्याप्त कारण हैं। जैश कई आ’तंकवादी हमलों में शामिल रहा है और वह क्षेत्रीय स्थिरता एवं शांति के लिए खतरा है। जैश-ए-मोहम्मद संयुक्त राष्ट्र में घोषित आ’तंकी संगठन है। अमेरिका और भारत आ’तंकवाद के खिलाफ मिलकर काम कर रहे हैं।

साथ ही कहा है कि मैं मानता हूं कि यूएस और चीन इस क्षेत्र में शांति और स्थिरता स्थापित करने के पक्ष में हैं और जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आ’तंकवादी घोषित न किया जाना क्षेत्रीय स्थिरता एवं शांति के लिए खतरा होगा।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों और संयुक्त राष्ट्र के अन्य सदस्य देशों के समर्थन से भारत आतं’कवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने के लिए दबाव बढ़ाएगा। इसके लिए भारत उस दस्तावेज का भी इस्तेमाल कर सकता है, जिसमें अल कायदा की शुरुआत करने वाले ओसामा बिन लादेन के अजहर को मदद देने का सबूत है।

इनपुट- ANI