कांग्रेस नेता एके एंटनी का बयान, सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने अगस्ता वेस्टलैंड में नहीं किया हस्तक्षेप

New Delhi: अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में बिचौलिये की भूमिका निभाने वाले क्रिश्चियन मिशेल को दिल्ली की पटियाला कोर्ट में 7 दिनों की रिमांड पर भेज दिया। बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल के ‘मिसेज गांधी’ का नाम लेने वाले ईडी के बयान पर आज बीजेपी जमकर कांग्रेस पर हमला कर रही है। इस कड़ी में कांग्रेस नेता एके एंटनी ने कहा कि पूर्व रक्षा मंत्री के मेरे कार्यकाल के दौरान अगस्ता वेस्टलैंड की खरीद हुई। मैं स्पष्ट रूप से कहना चाहूंगा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने कभी भी सौदों और खरीद में हस्तक्षेप नहीं किया। अगस्ता वेस्टलैंड को अधिकारियों की टीम द्वारा मूल्यांकन के बाद चुना गया था।

वहीं इससे पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस ने देश की छवि को धूमिल किया है। साल 2004 से लेकर 2014 तक कांग्रेस सरकार ने हर क्षेत्र में घोटाला किया हैं। इस मामले को लेकर कांग्रेस बेचैन है, उनका बेचैन होना बताता हैं कि चोर की दाढ़ी में तिनका है।

AK Antony

उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इस मामले में 150 करोड़ रुपये की रिश्वत खाई है और अब सोनिया गांधी का नाम मामले में आने से पार्टी घबरा गई है। सीएम योगी ने कहा कि क्रिस्चन मिशेल की गिरफ्तारी और उसके बयान से यह स्पष्ट हो गया है कि इस मामले में कांग्रेस की संलिप्तता रही है। कांग्रेस की संलिप्तता के बारे में सिर्फ ED ही नहीं कह रही बल्कि इससे पहले इटली की कोर्ट में भी मिसेज गांधी का जिक्र हुआ था। रिश्वतखोरी और देश को गुमराह करने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को देश से माफी मांगनी चाहिए।

वहीं इस मामले को लेकर सरकार, ईडी और मीडिया पर निशाना साधा। चिंदबरम ने ट्वीट कर कहा कि अगर सरकार, ईडी और मीडिया की चलती, तो इस देश में टीवी चैनलों पर मामलों की सुनवाई होती। ऐसे में आपराधिक प्रक्रिया संहिता और साक्ष्य अधिनियम लागू नहीं होगा। चिदंबरम ने अगले ट्वीट में कहा कि कंगारू अदालतों में भी सुनवाई की एक प्रक्रिया होती हैं, लेकिन यहां तो कंगारू अदालकों को भी पीथे छोड़ कर टीवी चैनलों पर ही फैसले सुनाए जा रहे हैं।