महाराष्ट्र में सियासी खींचतान के बीच अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद से दिया इस्तीफा

New Delhi : महाराष्ट्र में पिछले एक महीने से चल रहे राजनीतिक घमासान के कल खत्म होने की उम्मीद है। कोर्ट ने कल शाम 5 बजे तक भाजपा को फ्लोर टेस्ट में उतरने का आदेश सुनाया है। इससे पहले अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

शनिवार को पद संभालने वाले अजित ने तीन दिन बाद ही सीएम देवेंद्र फडणवीस को अपना इस्तीफा सौंप दिया।

वहीं राकांपा नेता जयंत पाटिल ने बालासाहेब थोराट को प्रो -टेम अध्यक्ष बनाने की मांग की है। मीडिया से बात करते हुए राकांपा नेता ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि राज्यपाल हमारी बात सुनेंगे और सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य, प्रो-टेम अध्यक्ष, बालासाहेब थोराट को बनाएंगे। वहीं अजित पवार के इस्तीफे उन्होंने कहा कि मुझे मीडिया से अजीत पवार के इस्तीफे के बारे में पता चला है। मैं इसके बारे में नहीं जानता, मैं इसके बारे में सब कुछ जानने के बाद ही इस पर कोई टिप्पणी करना चाहूंगा।

आपको बता दें कि कोर्ट के इस आदेश का राज्य भाजपा के अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने स्वागत किया है। साथ ही उन्होंने दावा किया है कि उनकी पार्टी कल होने वाले बहुमत परीक्षण के लिए तैयार है। वो इसमें खरा उतरेगी। वहीं विपक्षी पार्टी पूरा विश्वास जता रही हैं कि भाजपा फ्लोर टेस्ट में नहीं टिक पाएगी। कोर्ट के इस आदेश पर शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि सत्य की जीत हुई। कोर्ट ने 30 घंटे दिए हैं, हम 30 मिनट में बहुमत साबित कर सकते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने आज आदेश दिया 27 नवंबर को शाम 5 बजे से पहले महाराष्ट्र विधानसभा में एक फ्लोर टेस्ट आयोजित किया जाए।