राजीव सम्मान विवाद को लेकर कांग्रेस का AAP पर हमला, कहा- माफी मांगे केजरीवाल

NEW DELHI: आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा के एक ट्वीट से राजनीति में हलचलें तेज कर दी है।  अलका ने अपने ट्वीट में कहा था कि विधानसभा में चर्चा के दौरान उनसे राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लिए जाने को लेकर अपने भाषण में मांग शामिल करने को कहा गया था, जो मुझे मंजूर नही था। मैंने सदन से वॉक आउट किया। अब इसकी जो सजा मिलेगी, मैं उसके लिए तैयार हूं।

इस ट्वीट के बाद जमकर सियासत हो रही हैं। इस कड़ी में कांग्रेस नेता अजय माकन ने कहा कि राजीव गांधी ने देश के लिए अपना जीवन बलिदान किया है, यहां तक की बीजेपी ने कभी भी उनसे भारत रत्न वापस किए जाने की मांग नहीं उठाई। केजरीवाल को इस मामले पर माफी मांगनी चाहिए, साथ ही सदन में कार्यवाही के दौरान इस प्रस्ताव को रद्द किया जाए।

Ajay Maken

इससे पहले अजय माकन ने अलका लांबा की जमकर तारीफ की। उन्होंने ट्वीट के जरिए कहा कि- अगर ऐसा है, तो आपने सही करा अल्का जी, राजीव जी देश के लिए शहीद हुए। हम उनकी क़ुर्बानी कैसे भूल सकते हैं?, जो आज तक भाजपा भी नहीं कर पाई, वो भाजपा की B टीम, AAP ने कर दिया। आपके ट्वाट के साथ संलग्न प्रस्ताव, किसी भी शंका को दूर कर देती है। इस प्रस्ताव का हम तीव्र निंदा करते हैं।

सूत्रों की मानें तो इस ट्वीट के बाद आप पार्टी ने उनकी प्राथमिक सदस्यता भी रद्द कर दी हैं और लांबा से इस्तीफा भी ले लिया हैं। चांदनी चौक से विधायक अलका लांबा ने कहा कि मेरे वॉक आउट के बाद मुख्यमंत्री ने मुझे मैसेज किया कि मैं अपना इस्तीफा दे दूं.. विधायकी छोड़ने के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैंने पार्टी की टिकट पर चुनाव जीता हैं, पार्टी चाहती हैं तो मैं इस्तीफा देने के को तैयार हूं।

वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि किसी से इस्तीफ़ा नहीं मांगा गया है। हमने किसी पर दबाव नहीं बनाया। वहीं इससे पहले अलका लांबा के समर्थकों ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक पत्र लिखा। इस पत्र के जरिए समर्थकों ने विधायक अलका का इस्तीफा स्वीकार न करने की मांग की। इस पत्र पर चांदनी चौक सीटे विधायक अलका लांबा के समर्थकों के हस्ताक्षर भी हैं। चिट्ठी में लिखा गया है कि क्या विधायक को इतना भी हक नहीं है कि वो अपने विचार रख सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *