श्रीराम लला के दर्शन के बाद मंदिर के भूमि पूजन की तैयारियों की समीक्षा में जुटे योगी

New Delhi : अयोध्या में श्रीराम मंदिर के भूमि पूजन की तैयारियों की समीक्षा के सिलसिले में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अयोध्या पहुंच गये हैं। 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी श्रीराम मंदिर का शिलान्यास और भूमि पूजन करेंगे। कार्यक्रम में 100 से 200 लोगों के उपस्थित रहने की योजना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ श्रीराम जन्मभूमि में विराजमान रामलला के दर्शन करने और भूमि पूजन की तैयारियों का जायजा लेने के बाद हनुमानगढ़ी पहुंचे। हनुमानगढ़ी में मुख्यमंत्री हनुमंत लला का दर्शन किया।

 

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राम जन्मभूमि परिसर में विराजमान रामलला का दर्शन किया। इसके बाद वे घूम घूम कर श्रीराम जन्मभूमि परिसर में मंदिर निर्माण की तैयारियों का जायजा लेने लगे। जिला प्रशासन के अधिकारी व राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के पदाधिकारी मौजूद रहे। भूमि पूजन की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचने से पहले प्रदेश के पर्यटन मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री नीलकंठ तिवारी राम जन्मभूमि परिसर स्थित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय में पहुंचे।
अयोध्या के कारसेवक पुरम में भी सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त की गई है। कारसेवक पुरम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साधु संतों के साथ राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और विश्व हिंदू परिषद के पदाधिकारियों के साथ बैठक की।

पांच अगस्त को प्रधानमंत्री चांदी की शिला की पूजन और उसको जमीन में प्रतिष्ठापित कर श्रीराम मंदिर का भूमि पूजन करेंगे। श्रीराम मंदिर भूमि पूजन के इस कार्यक्रम में बहुत कम संख्या में वीआईपी गेस्ट आमंत्रित किये गये हैं। सरकार कोरोना वायरस महामारी की वजह से वहां भीड़ नहीं लगाना चाह रही है। इस मंदिर के लिये देश के सभी तीर्थस्थलों से मिट्टी और सभी नदियों का जल लाया जा रहा है जिसका उपयोग मंदिर के भूमि पूजन में होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixty five − = fifty nine