विधायक पद की शपथ लेने के बाद बोले आदित्य ठाकरे- नया महाराष्ट्र बनाने के लिए हैं प्रतिबद्ध

New Delhi : महाराष्ट्र विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हो गया है। सुबह आठ बजे से शुरू हुए इस सत्र के दौरान नवनिर्वाचित विधायकों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई जा रही है। प्रोटेम स्पीकर कालिदास कोलंबकर विधायकों को शपथ दिला रहे हैं। शिवसेना प्रमुख उध्दव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे ने भी विधायक पद की शपथ ली। इसके बाद उन्होंने कहा कि हम एक नया महाराष्ट्र बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यहां पहली बार विधायक बनने वाले कई लोग हैं और शपथ लेते समय हम सभी ने गर्व महसूस किया। हम राज्य के लोगों की सेवा करना चाहते हैं।

सदन में कार्यवाहक अध्यक्ष कालीदास कोलांबकर ने बबनराव पचपुते, राधाकृष्ण विखे पाटिल और विजयकुमार गावित को सदस्यों को शपथ दिलाने के लिए पीठासीन अधिकारी नियुक्त किया। वहीं जब अजित पवार शपथ लेने के लिए मंच पर गए तो एनसीपी सदस्यों ने मेज थपथपाकर उनका स्वागत किया।

बता दें कि बुधवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद महाराष्ट्र में सियासी खेल एकदम से पलट गया। एक महीने से चल रहा सियासी घटनाक्रम खत्म हुआ और इसी बीच शिवसेना अध्यक्ष उध्दव ठाकरे का मुख्यमंत्री बनना तय हो गया है। होटल ट्राइडेंट में मंगलवार को तीनों दलों के विधायकों की बैठक में यह निर्णय लिया गया। उध्दव ठाकरे 28 नवंबर को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पहली बार शिवसेना परिवार का कोई नेता राज्य का मुख्यमंत्री बन रहा है।

एनसीपी के महाराष्ट्र प्रमुख जयंत पाटिल ने अगले मुख्यमंत्री के रूप में उध्दव ठाकरे का नाम प्रस्तावित किया था। राज्य में कांग्रेस के प्रमुख बालासाहेब थोराट ने इस प्रस्ताव को मंजूरी दी। तीनों दलों ने अपने गठजोड़ का नाम ‘महाराष्ट्र विकास आघाड़ी’ नाम दिया है।

अजित पवार ने मानी अपनी गलती, पार्टी में उनकी पोजीशन में नहीं हुआ कोई बदलाव: नवाब मलिक

महाराष्ट्र में सफल लैंड हुआ हमारा सूर्ययान, दिल्ली में भी उतरे तो आश्चर्य नहीं: संजय राउत

सुप्रिया सुले ने गले मिलकर किया अजित पवार का स्वागत, कहा- खट्ठा- मीठा चलता रहता है