UP : नहीं पूरी की द’हेज की मांग तो पति ने विदेश से फोन पर ही दे दिया तीन तलाक, FIR दर्ज

New Delhi : तीन तलाक बिल पास हो गया है लेकिन तीन तलाक की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। हर रोज कोई न कोई मुस्लिम महिला पुलिस स्टेशन पहुंचकर यह शि’कायत करती है कि उसके पति ने तीन तलाक दे दिया। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में फिर तीन तलाक का एक मामला सामने आया है।

महिला ने पुलिस स्टेशन में जाकर शि’कायत लगाई कि उसका पति और ससुराल वाले उसे दहेज के लिए प’रेशान करते हैं। उसका पति सउदी अरब में काम करता है। सोमवार को उसने फोन पर तीन तलाक कह दिया। पुलिस ने कहा पांच लोगों के खि’लाफ दहेज प्र’ताड़ना के लिए केस दर्ज कर लिया गया है। इसकी जांच मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण अधिनियम 2019 के तहत की जाएगी।

महिला ने बताया कि उसकी शादी इसी साल अप्रैल में हुई है। शादी के बाद ससुराल वालों ने दहेज की मांग करना शुरू कर दिया। वह मुझसे दो पहिया वाहन और एक लाख रुपए घर से मांगने का द’बाव बना रहे थे लेकिन मैने मना कर दिया जिसके बाद पति ने फोन पर गा’ली दी और तीन तलाक कह दिया। पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के हापुड़ में भी तीन तलाक का मामला सामने आया था। जिसमें छह बच्चों की मां ने आ’रोप लगाया था कि खर्चे के लिए पैसे मांगने पर पति ने तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया।

अभी आठ अगस्त को यूपी के ही मुजफ्फरनगर में पति ने व्हाट्सएप के जरिए अपनी पत्नी को ‘तीन तलाक’ दे दिया। राष्ट्रपति ने तीन तलाक बिल को मंजूरी दे दी है। कानून भी बन गया है कि अगर कोई पुरूष अपनी पत्नी को तीन तलाक कहता है तो उसे तीन साल के लिए जे’ल की हवा खाना पड़ेगा। लेकिन अभी भी कुछ पुरुषवादी मानसिकता के लोग हैं जो इस कानून को न के बराबर समझ रहे हैं। इन घटनाओं को देखकर लगता है कि अगर इन पर का’र्रवाई होनी शुरू नहीं हुई तो ऐसे ही मामले सामने आते रहेंगे।