ख़ुफ़िया एजेंसी ने कच्छ-गुजरात में आ’तंकी घु’सपैठ को लेकर जारी किया हाई अ’लर्ट

New Delhi : केंद्रीय खुफिया ब्यूरो ने भारत-पाक सीमा के जरिये कच्छ-गुजरात में आ’तंकवा’दी घुसपै’ठ के बारे में गुजरात पुलिस को एक चे’तावनी जारी की गई है। चे’तावनी के बाद इन सीमावर्ती क्षेत्रों पर मरीन और सीमा पुलिस को तैनात कर दिया है।

पूर्वी कच्छ की एसपी परीक्षित राठौड़ ने कहा हमने यह सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक उपाय किए हैं कि कोई घु’सपैठ न हो सके, सीमावर्ती क्षेत्रों पर समुद्री और सीमा पुलिस की अधिक टीमें तैनात कर दिया है. इसके अलावा स्थानीय नागरिकों और म’छुआरे से किसी भी सं’दिग्ध वाहन (नाव या किसी व्यक्ति द्वारा देखे जाने की स्थिति में हमें सूचित करने के लिए कह दिया है।

भारत द्वारा अनुच्छेद 370 को हटाने के बाद पाकिस्तान के प्रधान मंत्री इमरान खान ने घोषणा की थी कि भारत के जम्मू और कश्मीर के विशेष दर्जे ख़’त्म होने के बाद भारत में “पुलवामा जैसी घ’टनाएं” हो सकती हैं, यहां तक ​​कि यह भारत और पाकिस्तान के बीच एक यु’द्ध को बढ़ावा भी दे सकता है।

यह एक ऐसा बयान है जिसे पाकिस्तान द्वा’रा आ’तंकवा’दी समूहों को अपना समर्थन देने का प्रयास करने के संकेत के रूप में देखा जा रहा है, यहां तक ​​कि आ’तंकवा’दी समूहों को ह’मला करने के लिये ब’ढ़ावा भी देता है।

एक वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारी ने बताया था कि जिस समय इमरान खान ने बयान दिया, उस समय खबर आई कि जै’श प्रमुख मौलाना मसूद अजहर का छोटा भाई रऊफ अजहर मंगलवार को रावलपिंडी में बैठकों के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में चला गया है। रऊफ़ अज़गर के दोनों देशों की सीमा के नज़दीक जाने के कारण पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में बड़ी संख्या में जै’श की भर्तियां हो रही हैं।

ख़ुफ़िया विभाग के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार खुफिया एजेंसी को सुचना मिली है कि आ’तंकी कुछ बुनियादी ढांचे और आर्थिक लक्ष्य के खिलाफ ह’मले कर सकते हैं। खुफिया ब्यूरो को संदेह है कि मुंबई जै’श-ए-मो’हम्मद के नि’शाने पर हो सकता है,खुफिया ब्यूरो को यह जानकरी एक स्ट्रिंग के जरिये मिली है। इनपुट की खुफिया रिपोर्ट में शामिल हैं कि तीन सदस्यीय जैश टीम को मुंबई में ह’मले को अं’जाम देने का काम सौंपा गया है और स्थानीय स्लीप’र सेल स’क्रिय हो गए है।