एक MLA की छोटी सी लव स्टोरी- लड़की के पिता का यह ड्रामा किसी फिल्मी क्लाइमेक्स से कम नहीं

New Delhi : तमिलनाडु में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक पार्टी के विधायक ए. प्रभु की लव स्टोरी और फिर शादी सिर्फ तमिलनाडु में नहीं बल्कि पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस टॉक ऑफ इ टाउन इवेंट में कुछ ऐसा हुआ जिसने हमारे समाज में फैली कुरीतियों को भी उजागर किया और यह भी जता दिया कि जो सिनेमा में हम देखते हैं वो हमारी ही परछाई है। इस शादी में लड़की के पिता किरासन तेल लेकर मंडप के पास पहुंच गये और फेरों से पहले ही धमकी दी। लेकिन पुलिस ने पिता को हिरासत में ले लिया। यह जानना दिलचस्प होगा कि लड़की एस. सौंदर्या के पिता अपनी बेटी के सुखद वैवाहिक जीवन के प्रारंभ में ही ऐसा क्यों कर रहा था?

दरअसल 19 वर्षीय वधू वहां के स्थानीय मंदिर के पुजारी की बेटी है। यानी ब्राह्मण कुल से ताल्लुक रखती है। जबकि कल्लाकुरिची निर्वाचन क्षेत्र के सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक विधायक ए प्रभु सुरक्षित विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गये हैं। यानी, दलित वर्ग से आते हैं। बस यही बात है जो बाह्मण पिता के गले नहीं उतरी। उसे लड़के से ऐतराज नहीं है बस ऐतराज है तो उसकी जाति और दलित होने से। लेकिन ब्राह्मण पिता यह भूल गया कि लड़का दलित तो है लेकिन साथ ही बेहद सामर्थ्यवान भी है। सुना ही होगा- समरथ के नहीं दोष गोसाईं। सो ब्राह्मण पिता तमाम प्रपंच करने के बाद भी इस छोटी सी लव स्टोरी में बाधा नहीं डाल सके और शादी संपन्न हुआ।
वैसे इस शादी को रुकवाने के लिये जो प्रपंच किया उसमें से एक प्रपंच यह था कि लड़की जब नाबालिग थी यानी 16 साल की तब से विधायक ने उसे अपने प्रेम जाल में फांस लिया था। उस लड‍़की के नाबालिग प्रेम को गैरकानूनी बताते हुये पुलिस कंप्लेन की गई, जहां विधायक की ओर से दलील दी गई कि उनकी लव स्टोरी सिर्फ 6 महीने पुरानी है।

बहरहाल कल्लाकुरिची निर्वाचन क्षेत्र के सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक विधायक ए. प्रभु ने लड़की के परिवार के कड़े विरोध के बावजूद सोमवार को कॉलेज छात्रा एस. सौंदर्या से शादी रचा ली। विधायक और उनके परिवार ने बताया कि औपचारिक रूप से स्वामीनाथन से शादी के लिए सहमति मांगी थी। हालांकि, स्वामीनाथन ने साफ मना कर दिया। लेकिन बड़ों की सहमति के बाद ही शादी की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

sixty two − = 54