पाकिस्तान के होस्टल में मृ’त मिली हिंदू लड़की, भाई ने मदद की गुहार लगाते हुए कहा ह’त्या हुई

New Delhi: पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर अ’त्याचार होने की घटनाएं होना एक बहुत ही आम बात है। इस बार पाकिस्तान के सिंध क्षेत्र के रहने वाले अल्पसंख्यक समुदाय ने मदद की गुहार लगाई है। लरकाना में अपने होस्टल में सोमवार को मेडिकल की एक छात्रा अपने कमरे में मृ’त पाई गई।

बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की नम्रता चंदानी जो कि अंतिम वर्ष की छात्रा थीं, अपने कमरे में चारपाई पर गले के चारों और रस्सी लिपटे हुए पाई गईं। जबकि उनका कमरा अंदर से बंद था। इस बारे में पुलिस का कहना है कि यह कहना जल्दबाजी होगी कि उसने आत्मह’त्या की या उसकी ह’त्या की गई।

मृतिका के भाई डॉ विशाल सुंदर ने कहा कि उसके शरीर के दूसरे हिस्सों पर भी निशान हैं जैसे किसी ने उसे पकड़ रखा हो। हम अल्पसंख्यक है, कृपया हमारी मदद करें।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जब लड़की के साथी उस समय परेशान थे जब उसने उनकी कॉल्स और दरवाजा खटखटाने का जवाब नहीं दिया। इसके बाद उन्होंने होस्ट के चौकीदार को बुलाया फिर उसने दरवाजा तोड़ा तब जाकर उसके मृ’त होने का पता चला।

कुलपति डॉ. अनिल अतुर रहमान ने कहा कि यह घटना आत्महत्या की लगती है, लेकिन पुलिस और मेडिकल-लीगल पोस्टमॉर्टम के बाद ही मौ’त के वास्तविक कारणों का पता लग पाएगा। उन्होंने कहा कि इस मामले की जांच के लिए एक कमेटी भी ​गठित कर दी गई है।

इस साल अगस्त महीने में एक 19 वर्षीय सिख लड़की को कुछ गुंडे बं’दूक की नोक पर ज’बरन ले गए और उसे इस्लाम कबूल कराया। उसके भाई ने वीडियो के जरिए लोगों से मदद की अपील की। वीडियो वायरल होने के बाद इसने पाकिस्तानी अधिकारियों को कार्रवाई के लिए मजबूर किया।