श्रीनगर के दौरे पर जाएंगे विपक्षी नेता , राज्य के सूचना और जनसंपर्क विभाग ने न आने का किया आग्रह

New Delhi : कल विपक्षी नेताओं का एक समूह श्रीनगर के दौरे पर जाएगा। नेताओं में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी , गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, सीपीआई के डी राजा, सीपीआई (एम) के सीताराम येचुरी, राजद के मनोज झा शामिल हैं।जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को निष्प्रभावी किये जाने और 35-ए को हटाये जाने के बाद राहुल गांधी ने राज्य का हाल जानने के लिए वहां जाने की इच्छा जाहिर की थी। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बयान दिया था कि कश्मीर घाटी में हिं’सा की खबरे हैं। जिसके जवाब में जम्मू कश्मीर राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि ‘मैं राहुल गांधी के लिए एक विमान भेजूंगा वह यहां आएं और जमीनी हकीकत जान लें।’

हालांकि बाद में राज्य के सूचना और जनसंपर्क विभाग की ओर से एक बयान जारी कर विपक्षी नेताओं को श्रीनगर न आने की आग्रह किया है। विभाग की ओर से कहा गया है कि – उनकी यात्रा वहां के लोगों के लिए मुसीबत बन सकती है। वे उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे होंगे जो अभी भी कई क्षेत्रों में हैं।

मालिक के निमंत्रण का जवाब देते हुए राहुल गाँधी ने कहा था कि – प्रिय मालिक जी , मैंने आपका ट्वीट देखा , मैं जम्मू-कश्मीर की यात्रा करने और लोगों से मिलने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं, जिसमें कोई भी शर्त नहीं जुड़ी है। मैं कब आ सकता हूँ।

इसके पहले भी राहुल ने एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि – मैं, आपके निमंत्रण पर विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख की यात्रा पर आना चाहता हूँ। हमें विमान की आवश्यकता नहीं है, लेकिन कृपया हमें वहां आजादी से यात्रा करने, स्थानीय लोगों, वाहन के स्थानीय नेताओं और हमारे सैनिकों से मिलने की स्वतंत्रता सुनिश्चित करें।