सोनभद्र ह’त्याकांड में दो’षी पाए गए अ’पराधियों को बख्शा नहीं जाएगा : योगी आदित्यनाथ

New Delhi : विपक्ष चारों तरफ से सोनभद्र की घटना पर भाजपा की योगी सरकार को घेर रहा है। सीएम योगी भी इस घटना को लेकर चिंतित है। योगी ने अपने एक बयान में कहा कि अब तक 29 अ’पराधी गि’रफ्तार हो चुके हैं, एक बैरल बं’दूक, 3 डबल बैरल बं’दूक और एक रा’इफल भी ज’ब्त कर ली गई है, और जो भी इस घटना के लिए जिम्मेदार पाया जाएगा, उनके खिलाफ स’ख्त कार्रवाई की जाएगी

बता दें कि उत्तर प्रदेश  विधानसभा का मानसून सत्र शुरू हो चुका है। कल यानि 17 जुलाई को सत्र का पहला दिन था। लेकिन पहले दिन जगन मोहन प्रसाद को श्रद्धांजलि देकर कार्यवाही स्थगित कर दी गई थी । आज से सदन की कार्यवाही सही तरीके से चलनी थी लेकिन विपक्ष ने हं’गामा कर दिया जिससे आज भी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी।

बताया जा रहा है कि विपक्ष ने हंगामा तब शुरू किया जब सीएम ने सदन में सोनभद्र की घटना को लेकर एक बयान दिया । उन्होंने कहा कि इस घटना की नींव 1955 में ही पड़ गई थी । तब तत्कालीन तहसीलदार ने आदर्श सहकारी समिति के नाम पर ग्राम समाज की जमीन दर्ज करने का गैरकानूनी काम किया था। उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से इस घटना का जिम्मेदार कांग्रेस को ठहरा दिया।

सीएम ने यह भी कहा कि घटना की जांच के आदेश तुरंत दिए गए थे। और इसकी जांच के लिए दो सदस्यीय  समिति भी बनाई गई थी। समिति ने 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट भी सौंप दी है। हालांकि सीएम ने गलती स्वीकार करते हुए यह भी कहा कि इस घटना में अधिकारियों ने लापरवाही बरती है। सीएम ने बताया वाराणसी जोन के  एडीजी  इस पूरे प्रकरण की जांच कर 10 दिन में रिपोर्ट सौपें देंगे। जब सीएम सदन में अपनी ये बातें कह रहे थे तभी सपा के विधायक वेल के पास पोस्टर लेकर हंगामा करने लगे कुछ देर में कांग्रेस भी उनके साथ आ गई। जिसे देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी।

UP : सोनभद्र में जमीन वि’वाद  पर हुए खू’नी सं’घर्ष में 9 लोगों की मौ’त, मुख्यमंत्री ने जताया शोक