MLA अमनमणि ने दूसरी शादी की, 5 साल पहले गई थी पहली पत्नी की जान, CBI जांच अब भी जारी

New Delhi : उत्तर प्रदेश के महराजगंज के नौतनवां विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय विधायक अमनमणि त्रिपाठी और मध्‍य प्रदेश की ओशिन पांडेय मंगलवार को गोरखपुर में एक सादे समारोह में एक-दूजे के हो गये। इस दौरान परिवार के सदस्‍य और चंद बेहद करीबी लोग ही वहां मौजूद रहे। यह अमनमणि की दूसरी शादी है। उनकी पहली शादी काफी विवादों में रही थी और पांच साल पहले ही उनकी पहली पत्नी सारा सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में जान चली गई थी।

लम्‍बे समय से विवादों में रहे अमन मणि अपनी दूसरी शादी में बेहद खुश नज़र आये। दूल्‍हे के लिबास में विधायक के चेहरे पर पूरे समय मुस्‍कान छाई रही। उनकी दुल्‍हन ओशिन भी लाल जोड़े में काफी खुश नज़र आ रहीं थीं।
गोरखपुर के एक निजी होटल में पूरे विधि-विधान से विवाह की रस्‍में पूरी की गईं। विधायक अमन मणि ने मध्‍य प्रदेश की रीवा की ओशिन के साथ सात फेरे लिए। इसके बाद मंच पर जयमाल की रस्‍म निभाई गई। विधायक अमन ने ओशिन के गले में माला डाल दी और जब ओशिन को माला डालनी हुई तो काफी झुककर उन्‍हें माला पहनाने दी।

विधायक की पहली पत्नी सारा की जुलाई 2015 में संदिग्ध परिस्थितियों में जान चली गई थी। जब वह उनके साथ कार से लखनऊ से दिल्ली जा रही थी। उन पर सारा की जान ले लेने का आरोप लगा। इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है। सारा सिंह केस के रहस्य से परदा उठाने में फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स के भी पसीने छूट गये। घटनास्थल से मिले साक्ष्य स्पष्ट नहीं कर पाये कि सारा की जान सड़क हादसे में गई या उसकी जान ले ली गई? कार में मौजूद उनके पति अमनमणि त्रिपाठी को खरोंच तक नहीं आई थी।

सारा सिंह के परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने अमनमणि को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। अमनमणि को किडनैपिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था। बेटी को न्याय दिलाने के लिये सीमा सिंह ने काफी भागदौड़ की। मामले में 302 का मुकदमा दर्ज हुआ। नतीजा रहा कि अक्टूबर 2015 में ही प्रदेश सरकार की सिफारिश पर सीबीआई ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की।

सारा के परिवार के मुताबिक, अमनमणि के खराब बर्ताव के चलते सारा उससे तलाक लेना चाहती थी। अगर सारा, अमन से तलाक लेती, तो पहले अमन को कानूनन सारा को गुजारा भत्ता देना पड़ता और उसके बाद अमन के पिता अमरमणि को अपनी प्रॉपर्टी का बड़ा हिस्सा सारा को देना पड़ता। इससे बचने के लिए उम्रकैद की सजा काट रहे अमन के पिता अमरमणि ने सारा के खिलाफ साजिश रची और इसे हादसे का रूप दे दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

38 − = 35