मैंने प्यार किया के सलमान की साइकिल Concorde : वो दीवानगी नहीं भूल पायेंगे, अलविदा एटलस

New Delhi : मैंने प्यार किया फिल्म में कई युवा प्रॉप्स का इस्तेमाल किया गया था। जैसे डिजाइनर जैकेट, डिजाइनर स्पोर्ट्स कार, फ्रेंड्स कैप। लेकिन एक ऐसी भी चीज थी, जिसमें दम तो था लेकिन वह लाइम लाइट में नहीं आ सका। यह थी एक स्पोर्ट्स साइकिल। जिसका इस्तेमाल सलमान खान ने कई महत्वपूर्ण दृश्यों और गीतों में किया था। आ जा शाम होने आई, मौसम ने ली अंगड़ाई…. गाने में। इससे पहले कभी किसी हिंदी सिनेमा में ऐसा नहीं देखा गया था। आप लेख के साथ साझा की गई तस्वीर में साइकिल और उसके अनूठे हैंडल को देख सकते हैं।

View this post on Instagram

Rare moment from #MainePyarKiya! #reliverajshri

A post shared by Rajshri (@rajshrifilms) on

 

वास्तव में समय के हिसाब से इस फिल्म में साइकिल की एक खूबसूरत दुनिया थी जो नई थी। कुछ नया था। एक स्मार्ट और शानदार साइकिल जिस पर सलमान खान लगातार दिखे। ऐसे दृश्य जो संदेश दे रहे थे- युवा दिखो और युवा महसूस करो। यह भारत के लिये एकदम नया अनुभव था। एक ऐसी साइकिल जिसका हैंडल बाइक नुमा सीधा और गोल था। इसको चलाने के लिये हमें साइकलिस्टों की मुद्रा में झुकना और पकड़ना पड़ता था। इस फिल्म के समय या थोड़े दिनों बाद लोगों को ज्यादा पैसे खर्च करने के बाद यह साइकिल नसीब हुई। ये महंगे थे और अन्य की तुलना में कहीं अधिक शानदार और आकर्षक। हाई-इंड मॉडल भी आये थे, जिनमें से एक में गियर थे।


मैंने प्यार किया में जो साइकिल इस्तेमाल हुई थी उसे एटलस ने ही बनाया था। स्पेशल आर्डर पर। और बाजार में भी उतार दिया। एटलस की इस नीले रंग के स्पोर्ट्स मॉडल को पाने के लिये भी उस समय के युवाओं में दीवानगी थी। एटलस साइकिल के इस मॉडल का नाम था Concorde। लेकिन युवाओं में यह सलमान खान की साइकिल के रूप में ही फेमस थी। जिन लोगों को यह साइकिल नसीब हुई वे सड़क पर इसे चलाते हुये अपने आपको किसी हीरो से कम नहीं सकमझते थे और फिर साइकिल चलाते हुये मैंने प्यार किया के वे शानदार गाने। आप फील भी नहीं कर सकते कि क्या दीवानगी थी।


लेकिन अब फिल्म में स्टार बन कर आई Concorde गायब हो गई है। किस्मत देखिये कि सिनेमा रिलीज होने के 30 साल के बाद 3 जून को एटलस साइकिल फैक्ट्री भी बंद हो गई। एक हजार से ज्यादा मजदूर बेरोजगार हो गये। कंपनी ने बंद करने के पीछे कारण बताया है आर्थिक तंगहाली का। शायद एटलस अब शुरू न हो सके। शायद अब Concorde दुबारा न आये। मगर क्या मैंने प्यार किया और Concorde की दीवानगी मैं कभी भूल पाऊंगा। मुश्किल है। इसलिये भारी मन से कह रहा हूं अलविदा एटलस।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

− 5 = 2