ठगी के लिये छाप ली 87 करोड़ की नकली करंसी, सेना का जवान शेख अलीम खान मास्टरमाइंड निकला

New Delhi : महाराष्ट्र के पुणे में क्राइम ब्रांच ने बुधवार को करीब 87 करोड़ रुपये मूल्य के नकली नोट जब्त किये। इनमें भारत और अमेरिका समेत कई देशों की करंसी शामिल है। इनमें से ज्यादातर पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ छपा है। इस मामले में सेना के एक जवान समेत 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। क्राइम ब्रांच को शक है कि ये नोट ठगी के इरादे से छापे गये थे। फिलहाल, हर एंगल से जांच की जा रही है। आरोपियों में सेना का जवान भी है, इसलिए आर्मी इंटेलिजेंस भी पड़ताल में जुटी है।

पुणे के डीसीपी क्राइम ब्रांच बच्चन सिंह ने कहा- दो दिन पहले हमें मिलिट्री इंटेलिजेंस से नकली करंसी गैंग के बारे में सूचना मिली थी। इसके बाद संयुक्त ऑपरेशन चलाकर हमने 6 लोगों को शहर के विमाननगर इलाके के एक फ्लैट से गिरफ्तार किया। सेना का जवान इस पूरे गैंग का मास्टरमाइंड है।
डीसीपी ने बताया – जब्त की गई नकली करंसी में भारतीय नोटों का मूल्य 43.40 करोड़ रुपये और अमेरिकी डॉलर का मूल्य 4.2 करोड़ है। ज्यादातर भारतीय नोटों पर ‘चिल्ड्रन बैंक ऑफ इंडिया’ छपा हुआ है। पता लगाया जा रहा है कि इस रैकेट का लिंक कहां से जुड़ा है? इतनी बड़ी संख्या में नोट कहां प्रिंट किये गये? इसके पीछे मकसद क्या है? नकली नोटों के साथ एक बंदूक भी बरामद हुई है।

क्राइम ब्रांच ने बताया कि जिन छह लोगों को गिरफ्तार किया गया उनके नाम शेख अलीम, सुनील सारडा, अब्दुल गनी, अब्दुलगानी खान, रितेश रत्नाकर और तुफेल अहमद हैं। शेख अलीम खान खड़की में बॉम्बे सैपर्स बटालियन में नायक के पद पर कार्यरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − = 13