योगीराज : डिफेंस और फार्मा कंपनियां यूपी में लगायेंगी कारखाना, 320 ग्लोबल फर्म्स के साथ डीलिंग

New Delhi : निर्यात प्रोत्साहन मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है- चीन छोड़ने की तैयारी कर रही कंपनियों पर उत्तर प्रदेश का खास ध्यान है। इन कंपनियों के राज्य में आने पर प्रदेश सरकार हर स्तर पर सहयोग करेगी। ऐसा कर उत्तर प्रदेश देश के अंदर ही नहीं बल्कि दक्षिणी-पूर्वी एशिया में भी निवेश और औद्योगिक प्रतिस्पर्धा की होड़ में रहेगा। चीन से निकलने वाली फार्मा कंपनियों को यूपी आने का ऑफर दिया है।

मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने शुक्रवार को वेबिनार के माध्यम से इंडो-अमेरिकन चैंबर आफ कामर्स तथा यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल के प्रतिनिधियों से निवेश पर चर्चा की। जिसमें करीब 320 मल्टीनेशनल कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल हुए। मंत्री ने चीन से निकलने की तैयारी कर रही फार्मा कंपनियों को यूपी में निवेश करने का न्यौता दिया। कहा – राज्य सरकार राजधानी लखनऊ के पास एक फार्मा पार्क बना रही है। अमेरिकी प्रतिनिधियों ने राज्य की एमएसएमई पालिसी की तारीफ करते हुये कहा- इस पालिसी से यूपी के डिफेंस कारीडोर में रक्षा क्षेत्र की कई प्रमुख एमएसएमई कंपनियां आना चाहेंगी।
एमएसएमई व निर्यात प्रोत्साहन विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने एमएसएमई उद्योगों की स्थापना के लिए उठाए गए नये कदमों के साथ ही एमएसएमई ऐप के बारे में जानकारी दी। इस वेबिनार में फार्मास्युटिकल, डिफेंस, लाजिस्टिक, फाइनेंस, टेलि कम्यूनिकेशन, इलेक्ट्रानिक्स, फूड प्रोसेसिंग उद्योग से जुड़े 320 प्रतिनिधि शामिल हुए। खासकर लाकिड मार्टिन, एटीएंडटी, आईबीएम, एचसीएल, विप्रो, न्यूयार्क इंजीनियर्स, जेनिसस, आईआरआईएस कंसल्टेंट, सिटी बैंक, माइक्रोसाफ्ट, वालमार्ट, टेक्सास डिपार्टमेंट आफ एग्रीकल्चर के प्रतिनिधि प्रमुख रूप से शामिल थे। इस वेबिनार के दौरान औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टंडन और प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास आलोक कुमार ने “यूपी ही क्यों” पर प्रेजेन्टेशन दिया। इसमें बताया गया – यूपी में उपभोक्ताओं की बड़ी तादाद है। 23 करोड़ की आबादी राज्य की है। और पास पड़ोस के राज्यों में 20 करोड़ उपभोक्ता भी यूपी से जुड़ते हैं।
कुछ फार्मा कंपनियों के प्रतिनिधियों ने कहा – चीन से निकलने के लिए उन्हें कई छोटे उत्पादों की आपूर्ति की जरूरत पड़ेगी। इस पर सिद्धार्थनाथ ने उन्हें बताया – उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ के पास एक फार्मा पार्क स्थापित करने जा रही है। प्लग एंड प्लेज पॉलिसी के तहत कोई भी कंपनी उत्तर प्रदेश में अपना कारोबार शुरू कर सकती है और इसके लिए वह तीन वर्षों में अनापत्ति प्रमाण पत्र हासिल कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

55 − = 49