ठाकुर श्रीबांके बिहारी जी के बिजनेस पार्टनर पहुंचे वृंदावन, मुनाफे का 2.30 करोड़ प्रभु को अर्पित किया

New Delhi : ये आस्था की ऐसी कहानी है जिस पर सहसा विश्वास ही नहीं होता। लेकिन है तो सच। दिल्ली के एक कारोबारी ने अपने बिजनेस में ठाकुर श्रीबांके बिहारी जी को अपना पार्टनर बना रखा है। दिल्ली का यह कारोबारी हर साल अपने मुनाफे का एक निर्धारित हिस्सा ठाकुर जी की चरणों में अर्पित करता है। इस बार वित्तीय वर्ष की समाप्ति से पहले ही लॉकडाउन हो गया और सबकुछ बंद हो गया। लेकिन जैसे ही कारोबारी के बिजनेस का हिसाब किताब हुआ वो मुनाफे की रकम लेकर भगवान के दरबार में पहुंच गया। उसने ठाकुरजी के हिस्से के लाभ की रकम का चेक मंदिर प्रबंधन को सौंपा। लॉकडाउन की वजह से श्रीबांके बिहारी के दर्शन तो नहीं कर सका लेकिन मत्था जरूर टेका।

ठाकुर बांके बिहारी में अटूट आस्था रखने वाले दिल्ली में कार के पार्ट्स बनाने का कारोबार करनेवाले मदरसन सूमी लिमिटेड कंपनी के मालिक चांद सहगल ने अपने आराध्य को कारोबार में पार्टनर बना रखा है। वे हर साल वित्तीय वर्ष की समाप्ति के साथ ही अप्रैल में ठाकुर जी का हिस्सा उन्हें भेंट करने आते हैं। इस बार कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन में भी वे अपने आराध्य ठाकुर श्रीबांकेबिहारी को नहीं भूले। रविवार को वृंदावन पहुंचे चांद सहगल लॉकडाउन के कारण ठाकुरजी के दर्शन तो नहीं कर पाये लेकिन देहरी पर माथा जरूर टेका।

उद्योगपति ने ठाकुर श्रीबांकेबिहारी मंदिर के प्रबंधक प्रशासन मुनीश शर्मा को 2.30 करोड़ का चैक सौंपा। प्रत्येक वर्ष अप्रैल में ही यह चैक सौंपने उद्योगपति आते थे, पर लॉकडाउन के कारण इस बार एक महीने की देरी से यह चेक सौंपा। सहगल ठाकुर श्रीबांकेबिहारी की यह सेवा पिछले 15 साल से लगातार करते चले आ रहे हैं। श्रीबांकेबिहारी मंदिर के प्रबंधक प्रशासन मुनीश शर्मा ने बताया कि उद्योगपति यह चेक प्रत्येक साल देने आते हैं। प्रत्येक माह दर्शन भी करते हैं।

यही नहीं वृंदावन के कात्यायनी शक्ति पीठ को भी 22 लाख का चेक चांद सहगल की ओर से प्रदान किया गया। दिल्ली के श्रद्धालु व्यापारी चांद सहगल ने लाड़लीजी मंदिर में भी 21 लाख रुपये का चेक कमेटी में व 2 लाख सेवायत व ब्राह्मणों को दान किये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 11 = 16