सुपरमैन : फिल्मों में आने से 3 साल पहले शादी कर चुके थे सोनू और अब सिल्वर जुबली मनानेवाले हैं

New Delhi : लोगों की नजर में देसी सुपरमैन सोनू सूद की एक ही पहचान है- गरीबों का मसीहा की। उन्होंने अभी तक 15000 से ज्यादा प्रवासी मजदूरों और स्टूडेंट्स को उनके घर तक पहुंचाया है। इस काम में उनकी प्रोफेशनल टीम, नीति गोयल के अलावा उनकी पत्नी सोनाली और दोनों बेटे भी मदद कर रहे हैं। सोनू की पत्नी सोनाली को लाइमलाइट में रहना पसंद नहीं है। कभी-कभी वह सोनू के साथ किसी इवेंट और पार्टी में नजर आती हैं, लेकिन वहां भी वह कैमरे के सामने आने से बचती हैं।

दरअसल सोनू की सोनाली से मुलाकात तब हुई थी जब वह इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे। पहली मुलाकात के बाद दोनों दोस्त बने और फिर यह दोस्ती प्यार में बदल गई। 25 सितंबर 1996 में दोनों ने शादी कर ली थी। दोनों के 2 बेटे हैं। सोनू ने एक इंटरव्यू में बताया था – सोनाली वह पहली लड़की हैं जिनसे उन्हें प्यार हुआ और फिर सोनू ने उन्हें अपना लाइफ पार्टनर बना लिया। जब मैं मुंबई में स्ट्रगल कर रहे थे तब सोनाली ने उन्हें पूरा सपोर्ट किया था। शादी के बाद सोनाली मेरे साथ एक कमरे में रहीं और कभी इसको लेकर शिकायत नहीं की।

सोनू ने हाल ही में बताया – जब किसी जरूरतमंद या मजदूर की कॉल आती है तो सोनाली (सोनू की पत्नी) उसे नोट कर लेती हैं। इसके बाद उनके दोनों बेटे ईशान और अयान लिस्ट बनाते हैं कि कौन किस बस में कहां जायेगा। इंटरव्‍यू में सोनू ने बताया था – सोनाली ने हर कदम पर मेरा साथ दिया। मुंबई में स्ट्रगलिंग पीरियड के दौरान एक ऐसे फ्लैट में रहना पड़ा था जिसमें तीन और लोग भी रहते थे। शादी के बाद सोनाली, सोनू के साथ खुशी-खुशी एक कमरे में रहीं और कभी शिकायत नहीं की। सोनू बताते हैं कि – शुरुआत में वो नहीं चाहती थीं कि मैं एक्टर बनूं लेकिन अब वो मुझपर गर्व करती हैं।
सोनू सूद और उनकी पत्‍नी सोनाली लाइम लाइट से दूर रहते हैं। सोनू पंजाबी हैं और पंजाब के मोगा से ताल्‍लुक रखते हैं जबकि उनकी पत्‍नी तेलुगु हैं।

सोनू ने इंजीनिरिंग के बाद मॉडलिंग की और वे मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में भी प्रतियोगी रहे। उन्‍होंने एक्टिंग करियर की शुरुआत 1999 की तमिल फिल्म ‘कल्लाझागर’ से की थी। बॉलीवुड में कई फिल्मों में उन्‍होंने यादगार काम किया। लेकिन सलमान खान की फिल्म ‘दबंग’ में उनका छेदी लाल का किरदार खूब पसंद किया गया।

सोनू का जन्‍म लुधियाना में हुआ था। उनके पिता एक एंटरप्रेन्‍योर तो वहीं उनकी मां अध्‍यापिका थीं। उनका बैकग्राउंड फिल्‍मों से नहीं रहा है लेकिन इसके बावजूद उन्‍होंने फिल्‍मों को ही अपना करियर बनाया और इसमें वे सफलतम हुये। उनकी दो बहनें भी हैं। सोनू ने वाईसीसीई नागपुर से इलेक्‍ट्रानिक्‍स में इं‍जीनियरिंग की थी। सोनू ने बॉलीवुड में अपने करियर की शुरूआत फिल्‍म ‘शहीदे-ए-आजम’ से की थी जिसमें उन्‍होंने भगत सिंह का किरदार निभाया था। इसके बाद उन्‍होंने कई छोटी बड़ी फिल्‍मों और अन्‍य भाषाओं की फिल्‍मों में भी काम किया जिसमें तमिल, तेलगु भी शामिल हैं। शहीदे-ए-आजम, युवा, चंद्रमुखी, आशिक बनाया आपने, जोधा अकबर, सिंह इज किंग, एक विवाह ऐसा भी, अरूंधति, दबंग, बुड्ढा होगा तेरा बाप, शूटआऊट एट वडाला, रमैया वस्तावैय्या, आर राजकुमार, इंटरटेनमेंट, हैप्‍पी न्‍यू ईयर, गब्‍बर इज बैक, दबंग 3 उनकी जबरदस्त फिल्में रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

28 − = 27