लॉकडाउन से शाहरूख ने सीखा- अपने पास इससे ज्यादा लोगों की जरूरत नहीं, जिनसे हम अभी टच में हैं

New Delhi : बॉलीवुड के किंग शाहरूख खान ने कोरोना आपदा और लॉकडाउन से बहुत कुछ सीखा है। उन्होंने आज सोशल मीडिया पर एक पोस्ट किया और इन सारी सीखों का सार उसमें समेट दिया। शाहरूख ने अपनी पोस्ट में पांच तरह की सीखों का जिक्र किया है और सबसे पहली सीख है – हम अपनी कई इच्छाओं की पूर्ती किये बगैर जी रहे हैं। इनमें से कई तो उतनी मायने भी नहीं रखतीं, जितना हम उनके बारे में सोचते हैं।

View this post on Instagram

Lockdown lessons…

A post shared by Shah Rukh Khan (@iamsrk) on

उन्होने लिखा है – हमें अपने आसपास इससे ज्यादा लोगों की जरूरत नहीं, जितनों से हम लॉकडाउन में बात कर सकते हैं। तीसरी सीख है – हम कुछ पल के लिए घड़ी को रोक सकते हैं और अपनी जिंदगी के बारे में दोबारा कल्पना कर सकते हैं। क्योंकि झूठे कागजों को पाने की सारी हड़बड़ी हमसे दूर हो चुकी है। चौथी सीख में उन्होंने लिखा है – हम उनके साथ भी हंस सकते हैं, जिनसे हमने खूब लड़ाई की है। यह समझ सकते हैं कि हमारे विचार उनसे बड़े नहीं थे। और इन सबसे ऊपर उन्होंने पांचवीं सीख को रखा है – इन सबसे ऊपर प्यार के अपने मायने हैं। इससे फर्क नहीं पड़ता कि किसी ने आपसे क्या कहा है।
शाहरूख खान मुंबई स्थित अपने घर में रहकर ही लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं। हाल ही में वे कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई के लिए फंड जुटाने ग्लोबल कॉन्सर्ट आई फॉर इंडिया में नजर आए थे। हाल के दिनों में वे अपने फिल्मों को लेकर भी चर्चा में हैं। खासकर राजकुमार हीरानी के साथ एक फिल्म को लेकर। जीरो के बाद वे किसी प्रोजेक्ट पर काम नहीं कर रहे हैं। किसी प्रोजेक्ट का अनाउंसमेंट भी नहीं किया है। ऐसे कयास लगाये रहे हैं कि वे राजकुमार हिरानी के साथ एक फिल्म कर रहे हैं, जिसके स्क्रिप्ट पर काम चल रहा है।

शाहरूख अपनी कंपनियों रेड चिलीज एंटरटेनमेंट, मीर फाउंडेशन, कोलकाता नाइट राइडर्स और रेड चिलीज वीएफएक्स के जरिए कई तरह के राहत कार्यों में मदद पहुंचा चुके हैं। इनमें पीएम केयर्स फंड और महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल के सीएम रिलीफ फंड समेत कुछ एनजीओ और दिहाड़ी मजदूरों के लिए काम करने वाले संगठनों को पहुंचाई गई मदद शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 80 = 83