जनरल रावत ने कहा – पाक ऐसे हालात में भी घुसपैठ के प्रयास करा रहा, हमारे जवान मुस्तैदी से डटे हैं

New Delhi : कोरोना वायरस से पूरा देश एकजुट होकर लड़ रहा है। शुक्रवार को देश के चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने तीनों सेनाओं के प्रमुख के साथ प्रेस कांफ्रेंस की। जनरल रावत के मुताबिक भारत की सेना हर मुश्किल हालात से निपटने में सक्षम है। उन्होंने इस मुश्किल वक्त में काम कर रहे सभी कोरोना वॉरियर्स को सलाम किया है। उन्होंने कहा – एलओसी के उस पार आतंकी घुसपैठ की फिराक में बैठे हैं। उनको घुसपैठ करवाने के लिए पाकिस्तानी सेना सीजफायर का उल्लंघन कर रही है। लेकिन एलओसी पर भारतीय सेना पूरी तरह से अलर्ट है।

ये पहला मौका था जब सीडीएस ने तीनों सेनाओं के प्रमुखों को साथ लेकर प्रेस कांफ्रेंस की है। सीडीएस की प्रेस कॉन्फ्रेंस से एक दिन पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों सेना प्रमुखों के साथ बैठक की थी। जिसमें कोरोना समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी। लॉकडाउन में सेना की तैनाती पर जनरल बिपिन रावत ने कहा कि हमारे पुलिस जवान हालात से निपटने में सक्षम हैं और वो बखूबी अपना काम कर रहे हैं, ऐसे में सेना की तैनाती की कोई जरूरत नहीं है।
सीडीएस बिपिन रावत के मुताबिक तीन मई को भारत की तीनों सेनाएं विशेष गतिविधियां करेंगी। इसका मकसद कोरोना वॉरियर्स का हौसला बढ़ाना है। जिसके तहत एयरफोर्स श्रीनगर से तिरुअनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक फ्लाईपास्ट करेगी। भारतीय नौसेना के जवान समुद्र से ही कोरोना वॉरियर्स को सलाम करेंगे। इसके तहत तीन मई की शाम को तटीय क्षेत्रों में नौसेना के जहाज तैनात होंगे और वे खास तरह की लाइट जलाएंगे। वहीं नौसेना के हेलीकॉप्टर कुछ कोविड अस्पतालों पर फूल बरसाएंगे। वहीं भारतीय सेना तीन मई को कुछ कोविड अस्पतालों में माउंटेन बैंड डिस्प्ले करेगी। सीडीएस बिपिन रावत के मुताबिक सशस्त्र बल 3 मई को पुलिस मेमोरियल पर फूल चढ़ाएंगे। सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाणे के मुताबिक सेना कोरोना से लड़ने में पूरी तरह सक्षम है।

डिफेन्स मिनिस्टर राजनाथ सिंह चीफ ऑफ आर्मी, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार व सेनाध्यक्षों के साथ मीटिंग करते हुये।

जो पहला मरीज सेना में सामने आया था, वो ठीक होकर ड्यूटी ज्वाइन कर चुका है। भारतीय सेना में सिर्फ 14 जवान ही संक्रमित हैं, जिसमें से 5 ठीक हो चुके हैं। एयरचीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने कहा कि भारतीय वायुसेना स्वास्थ्य मंत्रालय के सभी निर्देशों का पालन कर रही है, जिस वजह से अभी तक वायुसेना का एक भी जवान कोरोना संक्रमित नहीं हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

47 − 39 =