30 जून तक की यात्रा के लिए लॉकडाउन से पहले बुक सभी ट्रेनों के टिकट कैंसल, पूरा रिफंड मिलेगा

New Delhi : 30 जून तक की यात्रा के लिए 25 मार्च यानी लॉकडाउन से पहले बुक सभी टिकट रेलवे ने कैंसल कर दिए हैं। रेल मंत्रालय ने गुरुवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि सभी टिकटों पर फुल रिफंड दिया जाएगा यानी यात्रियों से कैंसिलेशन चार्ज वसूल नहीं किया जाएगा।
इधर स्पेशल ट्रेन चलाने के बाद रेलवे जल्द ही मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें भी शुरू करेगा। रेल मंत्रालय ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है। रेलवे बोर्ड ने बुधवार को आदेश जारी किया। इसके मुताबिक, 22 मई से स्पेशल एसी के साथ ही दूसरी ट्रेनों में भी वेटिंग लिस्ट वाले टिकट जारी किये जायेंगे।

हालांकि, आरएसी वाले टिकट अभी जारी नहीं होंगे। रेलवे ने फर्स्ट एसी में 20 और स्लीपर में अधिकतम 200 तक वेटिंग तक टिकट बुक कराने की मंजूरी दी है। इसके साथ एसी चेयर कार, एग्जीक्यूटिव क्लास, सेकंड एसी और थर्ड एसी में भी वेटिंग टिकट बुक कराये जा सकेंगे। नई व्यवस्था 15 मई से बुक होने वाले टिकट पर लागू होगी।
रेलवे बोर्ड द्वारा विभिन्न जोन को जारी किये गये इस आदेश से साफ हो गया है कि रेलवे आने वाले दिनों में एसी के अलावा दूसरी ट्रेनें भी चलाएगा। इसका मतलब छोटे शहरों में भी रेल सेवाएं शुरू होंगी। हालांकि, इस संबंध में रेलवे की तरफ से कोई आदेश नहीं आया है। फिलहाल, स्पेशल एसी ट्रेन के जरिये दिल्ली से बड़े शहरों के बीच ही सेवा शुरू की गई है। रेलवे के जोनों को भेजे गये बोर्ड के इस आदेश में संकेत दिया गया है कि रेलवे वर्तमान एसी ट्रेनों के बजाय मिश्रित सेवाएं शुरू करने की योजना बना रहा है। इसका यह भी मतलब है कि बड़े शहरों के साथ साथ छोटे शहरों के लिए भी सेवाएं शुरू की जा सकती हैं। फिलहाल राजधानी स्पेशल बड़े शहरों के लिए सेवाएं मुहैया करा रही है। अब तक रेलवे की ओर से और सेवाएं शुरू करने का कोई आदेश नहीं है।

रेलवे मंत्रालय ने सीमित मात्रा में चलाई जा रहीं स्पेशल पैसेंजर ट्रेनों को लेकर अपने आदेश में संशोधन करते हुए बुधवार को पैसेंजर्स की वेटिंग लिस्ट की इजाजत दे दी। लेकिन, विशेष ट्रेनों में कोई भी आरएसी की सुविधा नहीं होगी। मंगलवार यानी 12 मई से राजधानी दिल्ली से 15 जोड़ी ट्रेनें देशभर के अलग-अलग रूटों में चलाई जा रही है।
स्पेशल ट्रेनों के टिकट कैंसिलेशन को लेकर रेलवे ने जो नियम जारी किये थे। इसमें भी बदलाव किया गया है। यात्रा से 24 घंटे पहले टिकट रद्द करने पर 50 फीसदी राशि ही वापस मिलती थी, जबकि 24 घंटे से कम समय में टिकट कैंसिल करने पर पूरा पैसा रेलवे के खाते में चला जाता था। नई व्यवस्था के तहत आम दिनों में टिकट रद्द करने पर जो शुल्क लगता था, स्पेशल ट्रेन के मुसाफिरों को भी उतना ही देना होगा।
इधर, कोरोना के लक्षण की वजह से जिन लोगों को ट्रेनों में यात्रा करने से रोका जाएगा, उन्हें रेलवे टिकट की पूरी राशि रिफंड करेगा। रेलवे ने बुधवार को यह जानकारी दी। इस संबंध में गाइडलाइन जारी की गई है।

इसके मुताबिक, कंफर्म टिकट वाले यात्री में अगर स्क्रीनिंग के दौरान कोविड-19 के लक्षण नजर आते हैं। जैसे तेज बुखार, खांसी तो उसे यात्रा की अनुमति नहीं होगी। इस सूरत में उसका टिकट रद्द कर दिया जाएगा और रेलवे पूरा पैसा लौटाएगी। ग्रुप टिकट में अगर कोई एक मुसाफिर यात्रा के लिए अनफिट पाया जाता है और उस पीएनआर नंबर पर यात्रा करने वाले दूसरे लोग भी ट्रैवल नहीं करना चाहते हैं तो उस सूरत में भी रेलवे टिकट का पूरा पैसा लौटाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 85 = 90