सरपंचों से बोले PM Modi – कोरोना का सबक-आत्मनिर्भर बनो, लॉन्च की स्वामित्व योजना

New Delhi : Prime Minister Narendra Modi राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस 24 अप्रैल पर देश के सभी सरपंचों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी ने सभी के काम करने के तरीके को बदल दिया है। अब हम आमने-सामने होकर बातें नहीं कर पा रहे हैं। पंचायती राज दिवस गांव तक स्वराज पहुंचाने का अवसर होता है। कोरोना संकट के बीच इसकी जरूरत बढ़ गई है। कोरोना से हमे कई सीख मिली है। सबसे महत्वपूर्ण सीख – आत्मनिर्भर होना जरूरी है। बिना आत्मनिर्भर बने ऐसे संकटों को झेल पाना मुश्किल है।

आज बदली हुई परिस्थितियों ने हमें आत्मनिर्भर बनना याद दिलाया है। इनमें ग्राम पंचायतों का मजबूत रोल है। इससे लोकतंत्र भी मजबूत होगा। एक दौर वो भी था जब देश की सौ से भी कम पंचायतें ब्रॉडबैंड से जुड़ी थीं। अब सवा लाख से ज्यादा पंचायतों तक ब्रॉडबैंड पहुंच चुका है। इतना ही नहीं, गांवों में कॉमन सर्विस सेंटरों की संख्या भी तीन लाख को पार कर चुकी है। अब गांव की मैपिंग ड्रोन के जरिए की जाएगी।
मोदी पहले पंचायती राज दिवस के मौके पर सिर्फ झांसी में सरपंचों की सभा को संबोधित करने वाले थे। यह चर्चा ऐसे वक्त हो रही है जब देश कोरोना आपदा और लॉकडाउन का सामना कर रहा है। गुरुवार को मोदी ने पंचायती राज मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को लिखे पत्र में पंच-सरपंचों को वीर योद्धा बताया। उन्होंने कहा था कि हम धैर्य, अनुशासन, सहयोग और सावधानी से कोरोना महामारी को हरायेंगे।
इस दौरान e-GramSwaraj पोर्टल और मोबाइल ऐप लॉन्च किया गया। इसके साथ ही स्वामित्व योजना भी लॉन्च की गई, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में विकास की कोशिशों में तेजी आयेगी। पंचायती राज दिवस मनाने का सिलसिला मनमोहन सिंह सरकार के दौरान 2010 से शुरू हुआ था। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को पंचायती राज दिवस की बधाई देते हुए मोदी ने लिखा- जब कोरोना महामारी पूरी मानवता के समक्ष चुनौती बन कर खड़ी है, ऐसे में हम सभी भारतीय पूरी एकजुटता के साथ उसका मुकाबला कर रहे हैं।

इसमें पंचायती राज व्यवस्था के सदस्य वीर योद्धा की तरह अहम भूमिका निभा रहे हैं। महात्मा गांधी का मानना था कि भारत की आत्मा गांवों में बसती है। हमारी सरकार इसी सोच के साथ आगे बढ़ रही है। इसमें उन्होंने पंचायती राज क्षेत्रों की कई योजनाओं का जिक्र भी किया। लॉकडाउन का दूसरा फेज 3 मई को खत्म होना है। इससे 6 दिन पहले यानी 27 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी सभी मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करेंगे। इससे पहले भी प्रधानमंत्री मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना संकट और लॉकडाउन की गाइडलाइन पर चर्चा कर चुके हैं। इससे पहले मोदी अलग-अलग क्षेत्र के लोगों से कोरोना संकट को लेकर बात कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 71 = 72