PM Modi बोले – मैं अपनी बातचीत को याद करूंगा, वे भारत की प्रगति को लेकर हमेशा ही भावुक थे

New Delhi : बॉलीवुड के वेटरन एक्टर ऋषि कपूर का देहांत हो गया है। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट करे इसकी जानकारी दी है। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर जानकारी दी – ऋषि चला गया, मैं टूट गया हूं। पूरी फिल्म इंडस्ट्री सदमे में है कि कैसे दो दिनों में दो कलाकार चले गये। 29 अप्रैल को इरफान खान का देहांत हुआ और 30 अप्रैल को ऋषि कपूर चल बसे। परिवार ने बयान जारी कर कहा – ऋषि अपने अंतिम समय में भी डॉक्टर और मेडिकल स्टॉफ के साथ हंसी मजाक करते रहे। उन्होंने अपनी जिंदगी को भरपूर जिया। उनके जीवन में हंसी-खुशी का स्थान अंत तक बना रहा।

 

इधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ऋषि कपूर के निधन पर ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने लिखा- बहुआयामी, प्रिय और जीवंत। ये ऋषि कपूर जी थे। वो प्रतिभा के पावर हाउस थे। मैं हमेशा सोशल मीडिया पर अपनी बातचीत को याद करूंगा। वो फिल्मों और भारत की प्रगति के बारे में भावुक थे। उनके निधन से दुखी हूं। उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना।

ऋषि कपूर के परिवार का बयान- हम सबके प्‍यार ऋषि कपूर दो सालों तक ल्‍यूकेमिया से लड़ने के बाद आज सुबह 8.45 बजे अस्‍पताल में हम सब को छोड़कर चले गये। डॉक्‍टरों और मेडिकल स्‍टाफ का कहना है कि वह आखिर तक सभी का मनोरंजन करते रहे थे। वह कैंसर से चल रही लड़ाई के दो सालों में हमेशा दृढ़ निश्‍चय और जिंदादिल रहे थे। परिवार, दोस्‍त, खाना और फिल्‍में हमेशा उनके ध्‍यान में रही थीं और जो भी उनसे मिलता था ये देखकर दंग था कि आखिर वह इस बीमारी से जूझते हुए भी इस बीमारी को खुद पर हावी नहीं होने देते।
वह पूरी दुनिया से अपने फैंस के की तरफ से भेजे गए प्‍यार से अभिभूत थे। उनके इन आखिरी दिनों में हमें एक ही बात समझ आई कि वह चाहते हैं कि हम उन्‍हें हमेशा हंसते हुए और मुस्‍कुराहट के साथ ही याद रखें न कि आंसुओं के साथ। हम समझते हैं कि पूरी दुनिया एक भयानक संकट से जूझ रही है। ऐसे में कई तरह की पाबंदियां हैं। हम उनके सभी फैंस और चाहने वालों से बस यही प्रथर्ना करते हैं कि वह इस समय में भी नियमों के पालन का ध्‍यान रखें और जो पाबंदियां लगी हैं उन्‍हें समझें। वह भी ऐसा ही चाहते होंगे।

देश के राजनेता भी ऋषि कपूर की मौत पर शोक व्यक्त कर रहे हैं। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी अभिनेता ऋषि कपूर के निधन पर शोक जताया। कांग्रेस नेता शशि थरूर ने अभिनेता ऋषि कपूर की मौत पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए ट्विटर पर लिखा कि यह सुनकर दुख हुआ कि मुंबई के कैंपियन स्कूल में मेरे वरिष्ठ स्कूली छात्र ऋषि कपूर जिनसे मैंने 1967-68 में इंटर-क्लास ड्रामेटिक्स में प्रतिस्पर्धा की, एक बेहतर दुनिया में चले गए। सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने उनके निधन पर कहा कि अभिनेता ऋषि कपूर का आकस्मिक निधन चौंकाने वाला है। वह न केवल एक महान अभिनेता थे बल्कि एक अच्छे इंसान भी थे।जावड़ेकर ने उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति हार्दिक संवेदना व्यक्त की है।

29 अप्रैल की देर रात ऋषि कपूर की तबीयत अचानक बिगड़ गई थी। उन्हें मुंबई के एच.एन रिलायंस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत खराब चल रही थी। लेकिन बुधवार को एक्टर की तबीयत अचानक ज्यादा खराब हो गई जिसके बाद आनन-फानन में उन्हें अस्पताल में एडमिट करवाया गया है। ऋषि कपूर के भाई रणधीर कपूर ने कल इस खबर को कन्फर्म किया था कि ऋषि कपूर की तबीतय ठीक नहीं है और वो हॉस्पिटल में एडमिट हैं। उनकी पत्नी नीतू सिंह उनके साथ हैं।

रणधीर कपूर ने बताया – वे एच.एन. रियालंस हॉस्पिटल में एडमिट हैं। उनकी तबीयत कुछ दिन से ठीक नहीं चल रही थी, उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है जिसके बाद हमने उन्हें बुधवार सुबह हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया। हालांकि घबराने की कोई बात नहीं है, मुझे पता है वो जल्दी ठीक हो जाएंगे। उनकी पत्नी नीतू उनके साथ हॉस्पिटल में हैं। हालांकि ऐसा हुआ नहीं और आज सुबह उनके देहांत की खबर आई है।
अस्पताल में भर्ती पिता ऋषि कपूर से मुलाकात के लिए उनकी बेटी रिद्धिमा कपूर साहनी ने मुंबई जाने की इजाजत मांगी है। पेशे से फैशन डिजाइनर रिद्धिमा अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहती हैं और उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को इस संबंध में एक अर्जी देते हुए कहा है कि चूंकि उनके पिता की तबीयत ठीक नहीं है, ऐसे में वह उनसे मिलने के लिए दिल्ली से मुंबई तक की यात्रा करना चाहती हैं।

लॉकडाउन के बीच अस्पताल में भर्ती ऋषि कपूर के साथ फिलहाल उनकी पत्नी नीतू कपूर और बेटे रणबीर कपूर मौजूद हैं। वहीं कपूर परिवार के अन्य सदस्य भी मुंबई में हैं। रिद्धिमा फिलहाल दिल्ली में अपनी फैमिली के साथ रह रही हैं और पिता की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिलने पर उन्होंने अधिकारियों से महाराष्ट्र जाने की इजाजत मांगी है। देशव्यापी लॉकडाउन के बीच दिल्ली की सीमाएं फिलहाल सील हैं। इसके अलावा दिल्ली के सभी हवाई अड्डों से किसी भी तरह के विमान की भी आवाजाही पर रोक लगी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 5 =