हमारा हीरो : मुंबई की मेयर ने बनीं नर्स, घरबार छोड़ हास्पिटल में कोरोना मरीजों की सेवा में जुटीं

New Delhi : अभी कोरोना से सर्वाधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र है और मुम्बई कोरोना प्रभावित शहरों के मामलों पर नंबर वन पर है। आपदा की इस घड़ी में मुंबई के बीएमसी की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में खुद को फिर से नर्स के तौर पर अस्पताल में उतार दिया है। नर्सिंग उनका पेशा रह चुका है और उन्होंने तय किया है कि समय की यह मांग है कि उन्हें कोरोना वॉरियर बनकर कोविड-19 से जंग लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा – उनको नर्स की ड्रेस में अपने साथ काम करता देख बाकी फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों का भी हौसला बढ़ेगा।

नर्स बनकर अस्पताल पहुंचीं मुंबई की मेयर मुंबई के बीएमसी की मेयर किशोरी पेडनेकर राजनीति में आने से पहले नर्स थीं। अब उन्होंने तय किया है कि वो मुंबई के बीवाईएल नायर अस्पताल में नर्स की भूमिका निभाएंगी और कोरोना वायरस के मरीजों को बीमारी से लड़ने में सहायता देंगी। इससे पहले मेयर पेडनेकर ने बताया था कि मुंबई के 231 जोन कंटेंमेंट जोन को लिस्ट से बाहर रखा गया है, क्योंकि वहां पिछले 14 दिनों में कोविड-19 का एक भी पॉजिटिव केस सामने नहीं आया है।
56 वर्षीय पेडनेकर ने कुछ दिनों पहले उन्होंने मुंबई में पत्रकारों के लिए कोविड-19 टेस्टिंग कैंप आयोजित करवाने में बड़ी भूमिका निभाई थी। लेकिन, जब उनमें से कुछ पत्रकार पॉजिटिव आ गए तो इन्होंने बायकुला के अपने मेयर आवास में ही खुद को क्वारैंटाइन कर लिया था।
मुंबई की मेयर मुंबई की मेयर बनने से पहले वह महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के उरन स्थित जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट के एक अस्पताल में बतौर नर्स के रूप में काम कर चुकी हैं। वो बीएमसी की चार बार की कॉर्पोरेटर रही हैं और अभी मुंबई के जी/साउथ वार्ड का प्रतिनिधित्व करती हैं, जो हाई प्रोफाइल वर्ली के बड़े इलाके को कवर करता है। वैसे वो मुंबई में ही जन्मीं और पली-बढ़ी हैं। उनके पिता वर्ली नाका में एक मिल वर्कर थे और शादी के बाद वह पति किशोर पेडनेकर के साथ मुंबई के लोअर परेल इलाके में शिफ्ट हो गईं थीं। हालांकि, घर की जरूरतों को देखते हुए वो 1992 में नर्स की नौकरी करने के लिए रायगढ़ चली गईं। उसी साल बाल ठाकरे से प्रभावित होकर वो शिवसेना में शामिल हो गई थीं।

मेयर ने ट्वीट किया – मुंबई के लिए कुछ भी। हम घर से काम नहीं कर सकते, हम आपके लिए क्षेत्र में हैं, घर पर रहिए, ख्याल रखिए… मैं नैयर अस्पताल में हूं।

बहरहाल केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक महाराष्ट्र में कोविड-19 के कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 8,068 पहुंच चुकी है। जिसमें पांच हजार से ज्यादा मामले तो अकेले मुंबई में हैं। महाराष्ट्र की कुल संख्या में से अब तक 1,076 लोग या तो ठीक हो चुके हैं या उन्हें डिस्चार्ज भी किया जा चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

+ 54 = 63