जावेद अख्तर बोले – सलाम करिये उन डॉक्टर्स को, जो अपनी जान हथेली पर लेकर आपके पास आ रहे हैं

New Delhi : लेखक और फ़िल्ममेकर जावेद अख्त़र ने एक वीडियो के जरिये लोगों को भाईचारा और एकता संदेश देने की कोशिश की है। उनकी पत्नी शबाना आज़मी ने अपने ऑफ़िशियल ट्विटर आकउंट से एक वीडियो पोस्ट किया है। इसमें जावेद लोगों से एकजुट रहने की अपील कर रहे हैं।  उन्होंने अपील की है कि रमजान के मौके पर अगर लोग घर में ही इबादत करेंगे तो पूरे समाज का भला होगा। हमेशा वैसे काम करिये जिनसे समाज का भला हो। ख्याल रखिए कि आपकी बातों, नारों और बातचीत से दूसरों के दिलों में संदेह पैदा ना हो।

जावेद ने इस वीडियो में कहा- दोस्तों, देश इस वक्त बड़े संकट से गुजर रहा है। इस संकट से लड़ने के लिए, जिसका नाम कोरोना है, जरूरी है कि हम सब पूरे के पूरे एक हों। हम अगर एक दूसरे पर शक करने लगेंगे और एक दूसरे की नीयत को नहीं समझेंगे, तो जब एकता ही नहीं होगी, तो लड़ेंगे कैसे? एकता की बहुत जरूरत है। आए दिन मैं बहुत अज़ीब-अज़ीब बातें सुनता हूं। सलाम करिये उन डॉक्टर्स का, जो अपनी जान हथेली पर लेकर आपका टेस्ट लेने आ रहे हैं। टेस्ट से ही तो मालूम होगा कि आपको बीमारी है या नहीं। टेस्ट में मालूम होगा आपको बीमारी है, तो आपका इलाज़ कराया जाएगा। यह बहुत नासमझी की बात है कि कई जगह उन डॉक्टर्स के ऊपर पत्थर फेंका गया है। यह तो बहुत बेवकूफी का काम है, यह नहीं होना चाहिए।

जावेद ने आगे कहा- दूसरी तरफ सुनने को मिलता है कि एक वर्ग की दुकाने बंद करा दी। ठेला उलट दिया। उसे मारकर भगा दिया। ऐसे थोड़े ही एकता होती है। हम एक दूसरे पर पूरी तरह से विश्वास रखना होगा। हम सब देशवासी हैं।
जावेद अख़्तर ने मुस्लिम समाज से विशेष अपील की। उन्होंने कहा- मैं रिक्वेस्ट करूंगा, खासतौर से अपने देश के मुसलमान भाईयों से। आपका रमजान आ रहा है। आप ज़रूर इबादत करिए। इबादत का अपना फर्ज़ समझते हैं। लेकिन इसमें याद रखिए कि दूसरों को प्रॉब्लम ना हो। बल्कि आपके अपने लोगों को भी प्रॉब्लम ना हो। वो सारी इबादत जो आप मस्जिद में जाकर करते थे, वह आप घर पर कर सकते हैं। ख्याल रखिए कि आपकी बातों, नारों और बातचीत से दूसरों के दिलों में तरह-तरह के संदेह पैदा ना हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

67 + = 70