अंतिम समय में आलिया रहीं चिंटू के साथ, रणवीर-नीतू का दुख बांटने नहीं पहुंच सकी बेटी रिद्धिमा

New Delhi : बॉलीवुड के वेटरन एक्टर ऋषि कपूर का 67 साल की उम्र में 30 अप्रैल की सुबह 8.45 बजे देहांत हो गया। अमिताभ बच्चन ने सबसे पहले ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। अमिताभ बच्चन ने ट्वीट कर लिखा – ऋषि चला गया, मैं टूट गया हूं।
बुधवार 29 अप्रैल की सुबह उन्हें तकलीफ के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके साथ उनकी पत्नी नीतू कपूर, बेटा रणवीर कपूर और होनेवाली बहु आलिया भट‍्ट भी अस्पताल थीं। आलिया भट‍्ट कपूर परिवार के साथ ही बनी हुईं हैं। हालांकि उनकी बेटी रिद्धिमा कपूर उनके साथ नहीं हैं। पेशे से फैशन डिजाइनर रिद्धिमा अपने परिवार के साथ दिल्ली में रहती हैं और उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को इस संबंध में एक अर्जी देते हुए कहा है कि चूंकि उनके पिता की तबीयत ठीक नहीं है, ऐसे में वह उनसे मिलने के लिए दिल्ली से मुंबई तक की यात्रा करना चाहती हैं। श्मसान पर 15 लोगों की मौजूदगी की परमिशन मिली है। उनका पार्थिव शरीर हॉस्पिटल से सीधे श्मसान घाट ले जाया जायेगा। हॉस्पिटल में उनके देहांत की खबर सुनने के बाद सैफअली खान, करीना कपूर भी पहुंचे।

अपनी पूरी फैमिली के साथ ऋषि कपूर। इस तस्वीर में उनके साथ उनकी मां, पत्नी नीतू कपूर, बेटी रिद्धिमा अपने पति के साथ, बेटे रणवीर भांजे को कंधे पर लिये हुये।

इधर उनके देहांत से पूरी फिल्म इंडस्ट्री सदमे में है कि कैसे दो दिनों में दो कलाकार चले गये। 29 अप्रैल को इरफान खान का देहांत हुआ और 30 अप्रैल को ऋषि कपूर चल बसे। परिवार ने बयान जारी कर कहा – ऋषि अपने अंतिम समय में भी डॉक्टर और मेडिकल स्टॉफ के साथ हंसी मजाक करते रहे। उन्होंने अपनी जिंदगी को भरपूर जिया। उनके जीवन में हंसी-खुशी का स्थान अंत तक बना रहा।

ऋषि कपूर के परिवार का बयान- हम सबके प्‍यार ऋषि कपूर दो सालों तक ल्‍यूकेमिया से लड़ने के बाद आज सुबह 8.45 बजे अस्‍पताल में हम सब को छोड़कर चले गये। डॉक्‍टरों और मेडिकल स्‍टाफ का कहना है कि वह आखिर तक सभी का मनोरंजन करते रहे थे। वह कैंसर से चल रही लड़ाई के दो सालों में हमेशा दृढ़ निश्‍चय और जिंदादिल रहे थे। परिवार, दोस्‍त, खाना और फिल्‍में हमेशा उनके ध्‍यान में रही थीं और जो भी उनसे मिलता था ये देखकर दंग था कि आखिर वह इस बीमारी से जूझते हुए भी इस बीमारी को खुद पर हावी नहीं होने देते।
वह पूरी दुनिया से अपने फैंस के की तरफ से भेजे गए प्‍यार से अभिभूत थे। उनके इन आखिरी दिनों में हमें एक ही बात समझ आई कि वह चाहते हैं कि हम उन्‍हें हमेशा हंसते हुए और मुस्‍कुराहट के साथ ही याद रखें न कि आंसुओं के साथ। हम समझते हैं कि पूरी दुनिया एक भयानक संकट से जूझ रही है। ऐसे में कई तरह की पाबंदियां हैं। हम उनके सभी फैंस और चाहने वालों से बस यही प्रथर्ना करते हैं कि वह इस समय में भी नियमों के पालन का ध्‍यान रखें और जो पाबंदियां लगी हैं उन्‍हें समझें। वह भी ऐसा ही चाहते होंगे।

पिछले दो साल से ऋषि कपूर के कैंसर का इलाज चल रहा था। कैंसर के इलाज के लिये वे काफी लंबे समय तक अमेरिका में रहे। 29 अप्रैल को ऋषि कपूर की तबीयत अचानक बिगड़ गई। उन्हें मुंबई के एच.एन रिलायंस हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया था। पिछले कुछ दिनों से उनकी तबीयत खराब चल रही थी। लेकिन बुधवार को एक्टर की तबीयत अचानक ज्यादा खराब हो गई जिसके बाद आनन-फानन में उन्हें अस्पताल में एडमिट करवाया गया है। ऋषि कपूर के भाई रणधीर कपूर ने कल इस खबर को कन्फर्म किया था कि ऋषि कपूर की तबीतय ठीक नहीं है और वो हॉस्पिटल में एडमिट हैं। उनकी पत्नी नीतू सिंह उनके साथ हैं।

रणधीर कपूर ने कल बोला था – उनकी तबीयत कुछ दिन से ठीक नहीं चल रही थी, उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है जिसके बाद हमने उन्हें बुधवार सुबह हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया। हालांकि घबराने की कोई बात नहीं है, मुझे पता है वो जल्दी ठीक हो जाएंगे। उनकी पत्नी नीतू उनके साथ हॉस्पिटल में हैं। हालांकि ऐसा हुआ नहीं और आज सुबह उनके देहांत की खबर आई है।

लॉकडाउन के बीच अस्पताल में भर्ती ऋषि कपूर के साथ फिलहाल उनकी पत्नी नीतू कपूर और बेटे रणबीर कपूर मौजूद हैं। वहीं कपूर परिवार के अन्य सदस्य भी मुंबई में हैं। रिद्धिमा फिलहाल दिल्ली में अपनी फैमिली के साथ रह रही हैं और पिता की तबीयत बिगड़ने की सूचना मिलने पर उन्होंने अधिकारियों से महाराष्ट्र जाने की इजाजत मांगी है। देशव्यापी लॉकडाउन के बीच दिल्ली की सीमाएं फिलहाल सील हैं। इसके अलावा दिल्ली के सभी हवाई अड्डों से किसी भी तरह के विमान की भी आवाजाही पर रोक लगी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

97 − = 87