हामट सूट पहनकर व्लादिमीर पुतिन गये कोरोना रोगियों से मिलने, कहा – डॉ घड़ी की तरह काम कर रहे, उन्हें सलाम

हॉस्पिटल का निरीक्षण

New Delhi : Russia के प्रेसिडेंट व्लादिमीर पुतिन ने एकबार फिर पूरे विश्व के नेताओं को चौंका दिया है। दिखा दिया है कि लीडरकैसा होना चाहिये। रूसी राष्ट्रपति ने मास्को में कोमुनकारा अस्पताल का दौरा किया। इसमें कोरोना के रोगियों का इलाज किया जारहा है। उन्होंने यह दौरा कर डाक्टरों और नर्सों का आभार किया।

पुतिन ने कहा  मैंने उन्हें काम करते हुए देखा। वे सभी योद्धा हैं। वे सभी सुई की घड़ी की तरह काम कर रहे हैं।रूस के पास सभी ज़रूरीतकनीक उपलब्ध हैं।सभी लोग जानते हैं कि क्या करना है, कैसे करना है, उनके पास सब कुछ है, वे उपलब्ध उपकरणों और सुविधाओंका प्रभावी ढंग से उपयोग करते हैं। आप केवल मॉनिटरिंग कर सकते हैं। मैंने देखा कि गंभीर रोगियों के लिए तीन विशेषज्ञ बिस्तर केआसपास काम कर रहे हैं।

पुतिन ने कहाहमारा अस्पताल वास्तव में बड़ी संख्या में रोगियों के इलाज के लिए तैयार है। मैंने यूरोप में अध्ययन किया है, और  यहअस्पताल बहुत बेहतर हैयह अंतरिक्ष में होने जैसा है।

यही नहीं क्रेमलिन में एक नये Corona Virus अस्पताल का निर्माण भी पुतिन को एक ज़बरदस्त लीडर के तौर पर स्थापित कर रहा है।500 बेड के इस अस्पताल के निर्माण का 40% केवल 12 दिनों में पूरा हो गया है। एक महीने में यह अस्पताल आधुनिकतम उपकरणों सेलैस होगा। कुछ 5,000 श्रमिकों को अस्पताल को पूरा करने के लिए संगीत औरप्रेरक पोस्टरके साथ प्रोत्साहित किया जा रहा है। एकसोवियत शैली का पोस्टर कहता हैनिर्माण श्रमिक! हम मिनट गिन रहे हैं।

इस हॉस्पिटल के निर्माण का 40% 12 दिनों में पूरा हुआ

एक और पोस्टरथक गए और हार गए? असली सेनानियों के लिए रास्ता बनाओ!

रूस में कोरोना अधिक तेज़ी से फैल रहा है। बहरहाल मॉस्को पर निगरानी रखने वाले चेहरे की पहचान वाले कैमरों का एक विशाल औरविवादास्पद नेटवर्क अब रूस में कोरोनावायरस के प्रसार के खिलाफ लड़ाई में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। पिछले महीने से, वायरससे प्रभावित देशों से लौटने, हल्के लक्षणों से संक्रमित होने के बाद हजारों रशियन 14 दिनों के अनिवार्य Quarantine के लिए अपने घरोंतक सीमित हो गए हैं। पुलिस ने उनके विवरणों को लॉग इन किया और उन्हें चेतावनी दी कि 16 मिलियन निवासियों और दैनिकआगंतुकों के शहर में घुसने से विदेशियों के लिए पांच साल की जेल अवधि या निर्वासन हो सकता है।

रूसी राजधानी में पहले से ही 170,000 सुरक्षा कैमरों का एक नेटवर्क था, जो पिछले एक दशक में पूरे शहर में सड़कों और मेट्रो स्टेशनोंमें स्थापित किया गया था। लगभग 100,000 को अब facial recognition प्रणालियों से जोड़ा गया है जो लोगों को फिल्माए जाने कीपहचान कर सकते हैं।इन कैमरों से लगभग 200 लोगों की पहचान की गई जिन्होंने Isolation के नियमों को तोड़ा। पिछले महीने एकचीनी महिला की कहानी भी चर्चित हुई जिसमें कोरोना लक्षणों की पहचान कैमरों से की गई।

एक अधिकारी ने बतायाअधिकारियों ने तेजी से हवाई अड्डे से महिला के पड़ोसियों और यहां तक कि उसके टैक्सी चालक के 600 सेअधिक संपर्कों को इकट्ठा किया। महामारी की मार से ठीक पहले जनवरी में रूस में 2018 विश्व कप के दौरान चेहरे की पहचानतकनीक का पहली बार परीक्षण किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *